मुजफ्फरपुर; समाहरणालय में हुई चाइल्डलाइन सलाहकार परिषद एवं मानव व्यापार विरोधी जिला समिति की बैठक…

आज उप विकास आयुक्त, मुजफ्फरपुर की अध्यक्षता में जिला बाल
संरक्षण समिति, चाइल्ड लाइन सलाहकार परिषद जिला निरीक्षण समिति एवं जिला स्तरीय मानव व्यापार विरोधी समिति की बैठक का आयोजन समाहरणालय सभागार में किया गया।

 

अध्यक्ष द्वारा बैठक में उपस्थित सभी सवस्यगण/पवाशिकारीबाण का स्वागत किया गया। तत्पश्चात बैठक की कार्रवाई प्रारम्भ की गयी। बैठक के दौरान बालकों के प्रति होने वाली शोषण को रोकने हेतु पम्पलेट का अनावरण किया गया तथा अध्यक्ष द्वारा जिला बाल संखाण इकाई के विभिन्न कार्यों की समीक्षा की गयी।

बैठक में Powerpoint presentation के माध्यम से श्री उदय कुमार झा,सहायक निदेशक, जिला बाल संरक्षण हकाई, मुजफ्फरपुर द्वारा जिला बाल संखाण इकाई कार्यालय के विभिन्न कार्यों की विस्तृत जानकारी दी गयी क्या बाल देखारेखा संस्थानों में किये सुधारात्मक कार्यों के बारे में बताया गया जिसकी प्रशंसा बैठक में उपस्थित सभी लोगो ने की।

 

 

समीक्षा के क्रम में बाल संरक्षण के प्रति संवेदनशील होने का संदेश देने के साथ उप विकास आयुक्त महोदय ने बताया कि बल्वे समाज की उपज होते हैं। बत्तों में सुधारात्मक परिवर्तन लाने हेतु समाज को भी तत्पर एवं जागरुक होने की जरूरत है। जिला अमियोजन पदाधिकारी, मुजफ्फरपुर द्वारा बालकों में सुधारात्मक परिवर्तन लाते हुए विभिन्न न्यायालयों में लंबित वादों विशेषकर छोटे अपराधों से संबंधित वादों के त्वरीत निष्पादन की बात कही गयी।

श्री सुरेश कुमार, महापौर, मुजफ्फरपुर द्वारा बाल संरक्षण से संबंधित मुद्दों के व्यापक प्रचार-प्रसार हेतु संवेदनशील जगहों पर होर्डिग, फ्लेक्स बोर्ड, पम्पलेट आदि लगाने का सुझाव दिया गया।
उनके द्वारा सामुदायिक शहरी एवं ग्रामीण) स्तर पर बाल संरक्षण समिति की बैठक आयोजित कर भी जागरूकता लाने की बात कही गयी।

 

सहायक निदेशक द्वारा बताया गया कि मुजफ्फरपुर जिलान्तर्गत 400 विद्यालयों में ‘बालकों के प्रति होने वाली लैंगिक हिंसा’ एवं ‘सुरक्षित एवं असुरदित स्पर्श” विषय पर जागरुकता लाने का अभियान चलाये जाने की प्रक्रिया अंतिम चरण में है।

 

कमान्डेंट, सशस्त्र सीमा बल द्वारा मानव व्यापार को रोकने हेतु उनके द्वारा किये जाने वाले प्रयासों के बारे में बताया गया। जिला निरीक्षण समिति के सदस्यों द्वारा निरीक्षण के क्रम में देखे गए संस्थानों की व्यवस्था के बारे में बताया गया एवं प्रबंधन पर संतोष व्यक्त किया गया।

 

 

समीक्षा के क्रम में श्री उदय शंकर शर्मा, केन्द्र समन्वयक, चाईल्डलाहन द्वारा चाइल्डलाइन के कार्यों की जानकारी दी गयी।स्टेशन प्रबंधक, मुजफ्फरपुर जंक्शन द्वारा रेलवे चाइल्डलाइन के आउटरीच वर्कर के ड्रेस कोड, पहचान पत्र, स्टेशन पर माइकिंग सिस्टम एवं फ्लेक्स बोर्ड लगाये जाने की बात कही गयी।

 

श्री तन्द्रदीप कुमार, बाल संरक्षण पदाधिकारी द्वारा मुजफ्फरपुर जंक्शन पर संकटहारत बालकों के संवाण से संबंधित सूचनाओं का प्रचारित किये जाने की बात कही गयी। साथ ही चाइल्ड लाइन नंबर-1098 को स्कुल बसों एवं सरकारी बसों पर लगाये जाने की बात कही गयी।

नगर आयुक्त, नगर निगम, मुजफ्फरपुर ने बताया कि बच्चों को गलत राह पर विग्धमित होने से रोकना समाज ही सामूहिक जिम्मेवारी है। अश्या द्वारा गृह में आवासित बालकों के सम्पूर्ण शिक्षा की व्यवस्था करने हेतु निदेशक, समाज कल्याण, विहार, पटना से मार्गदर्शन मांगने का निर्देश दिया गया। अपर समाहत्ती (आपदा ) ने बाल देखरेख संस्थानों में किये गये सकारात्मक कार्यों की प्रशंसा करते हुए कहा कि बाल संरक्षण के प्रति संवेदनशील होने की जरूरत है।

 

इसके अतिरिक्त बैठक में उपस्थित अन्य सदस्यों द्वारा भी कई महत्वपूर्ण सुझाव दिये गये जिसे अमल में लाने का आश्वासान सहायक निदेशक द्वारा दिया गया। अंत में अपर समाहत्ती
(आपदा) के धन्यवाद ज्ञापन के पश्चात बैठक सम्पन्न पुरी।

Share

Swaraj Shrivastava

A young personality in the field of journalism with lot of energy and enthusiasm, always eager to bring out the best and latest update on much depth and possible details. Founder of the 'Muzaffarpur Wow' media portal.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *