Muzaffarpur में गांव-गांव जा कर गरीबो व अतिपिछड़ों के बीच विधिक सेवा प्राधिकार के योजनाओं की दी जा रही है जानकारी

नालसा नई दिल्ली के निर्देश पर पूरे देश मे आजादी का अमृत महोत्सव के तहत बृहत जागरुकता अभियान चलाया जा रहा है. 2 अकटुबर से 14 अकटुबर तक रोज चलने वाले इस कार्यक्रम मे सभी जिला विधिक सेवा प्राधिकार अपने अपने जिले मे प्रचार प्रसार करेंगे.

 

जिला विधिक सेवा प्राधिकार मुज़फ़्फ़रपुर ने भी इस कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए कमर कश ली है. जिला न्यायाधीश सह अध्यक्ष जिला विधिक सेवा प्राधिकार मनोज कुमार सिन्हा जी के दिशा निर्देश पर सचिव सुबोष चंद्र ने व्यापक रूप रेखा तैयार की है.

 

जिले के सभी पूर्व पारा विधिक स्वयं सेवक, पैनल अधिवक्ता और तमाम संबंधित लोगों को इस्मा लगाया गया है. यह सभी लोग गाँव गाँव जा कर लोगों को को विधिक सेवा प्राधिकार, इसके तहत चलने वाली योजना, तथा समान्य कानूनी पहलुओं के बारे में जानकारी देंगे. खास कर महिलाओ बच्चों बुजुर्गों कारा बंदियों, अपराध पीड़ितों, आपदा पीड़ितों असंगठित कामगार इत्यादि तक जागरुकता पहुचाने का लक्ष्य है. साथ ही लोगों के बीच पैम्फलेट वितरण, फ्लेक्स. मोबाइल वैन से भी घुम घुम कर लोगों को जागरूक किया जा रहा है. इसी दौरान जिले के गायघाट प्रखण्ड के मैठि पूर्वी और मैठि पश्चमी में दलित टोला में जाकर लोगो के इस बाबत जानकारी दी. सभी क्षेत्रों के पीएलवी प्रतिदिन अभियान चाला कर जागरूकता फैला रहे है.

 

वंही गायघाट के पीएलवी सह समाजसेवी धर्मेंद्र कुमार ने बताया कि गरीब और शोषित, अतिपिछड़ा लोगों के बीच जाकर विधिक सेवा प्राधिकार, इसके तहत चलने वाली योजना के बारे में जानकारी दी गई, साथ ही कहा कि रेप कांड मामले में जिला विधिक सेवा प्राधिकार के तहत पीड़िता को मुआवजा भी दिलाया जाता है, साथ ही परिवारी हिंसा मामले में पैनल अधिवक्ता मुहैया करवाया जाता है, और जो मामला कोर्ट में चल रहा है, उस मामले को दोनों के बीच सोलह करवा कर निशुल्क रूप में समाप्त कर दिया जाता है, साथ ही कई ऐसे योजना भी जिनसे गरीबो को रूबरू कराया गया.

Share This Article.....

Leave a Reply

Your email address will not be published.