PM मोदी और राष्ट्रपति चखेंगे मुजफ्फरपुर की शाही लीची, स्पेशल वैन से भेजी जाएगी 2500 किलो लीची

प्रधानमंत्री और राष्ट्रपति मुजफ्फरपुर की शाही लीची खाएंगे। इसके लिए बाकायदा एक कंपनी को 2500 किलो लीची दिल्ली के बिहार भवन भेजने का ऑर्डर दिया गया है। वहां से ये लीची PMO भेजी जाएगी। प्रधानमंत्री और राष्ट्रपति तक पहुंचने वाली लीची का बागान से लेकर पैकिंग तक विशेष ध्यान रखा जाता है। दिल्ली और पुणे से इसके लिए एक्सपर्ट भी बुलाए जाते हैं।

प्रधानमंत्री और राष्ट्रपति तक 2500 किलो लीची भेजने का जिम्मा राधा कृष्णा इंपेक्स प्राइवेट लिमिटेड कंपनी को दिया गया है। ये कंपनी जिले के पताही में है। जो यूनिक फूड प्रोसेसिंग के नाम से भी जानी जाती है। यहां बागान से लीची तोड़कर लाई जाती है। फिर इसे प्रोसेसिंग के अच्छे फलों को छांटा जाता है। इसमें से जो सबसे अच्छे फल निकलकर आते हैं। उसे ही PMO के लिए भेजा जाता है।

यही शाही लीची पीएम और प्रेसीडेंट के लिए भेजी जा रही है

रेफ्रिजरेटर वैन से जाएगी दिल्ली
कंपनी के MD आलोक केडिया ने बताया कि हम पिछले 10 साल से PMO के लिए लीची भेज रहे हैं। कोरोना काल में थोड़ी दिक्कत हुई थी। पर लीची फिर भी भेजी गई थी। इस बार 2500 किलो लीची भेजने के निर्देश हैं। जिसे तैयार कर पैकिंग किया जा रहा है। 27 मई को स्पेशल रेफ्रिजरेटर वैन से इसे दिल्ली भेजा जाएगा। इस वैन में लीची खराब नहीं होती है।

लीची की पैकिंग करते स्टाफ।

अलग-अलग बागानों से तोड़ते हैं
कंपनी के MD ने बताया कि अलग-अलग बागानों से लीची तोड़कर मंगाते हैं। इसे प्रोसेसिंग के जरिए अच्छे फल निकालते हैं। जिसकी पैकिंग की जाती है। हम लोग बागान चुनने में काफी सतर्कता और मानक का पालन करते हैं। वैसे बागान चुनते हैं, जिसमें रख-रखाव अच्छे हों। बेहतर फल आते हों। लीची के पेड़ों की देखभाल की जाती हो। ऐसे बागानों का चयन कर फल तुड़वाकर मंगाते हैं। फिर उसमें से भी बेहतर फलों को अलग किया जाता है।

लीची के बागान

दिल्ली और पुणे से बुलाए जाते हैं एक्सपर्ट
MD ने कहा कि फलों के चयन के लिए और इसकी प्रोसेसिंग समेत बाकी कामों के लिए दिल्ली और पुणे से एक्सपर्ट की मदद लेते हैं। उन्हें बागान में जाकर फल दिखाया जाता है। वे अपनी विशेषज्ञता के अनुसार फल और बागान का चयन करते हैं। उसी में से फल तुड़वाकर मंगाते हैं। इसके बाद एक्सपर्ट प्रोसेसिंग के दौरान भी मौजूद रहते हैं। पैकिंग और रखरखाव भी उन्हीं के सामने होता है।

Share This Article.....

Leave a Reply

Your email address will not be published.