जम्मू कश्मीर में एक और हाई अलर्ट जारी, नया आतंकी समूह ‘हरकत 313’ हुआ एक्टिव

भारतीय खुफिया एजेंसियों (Indian Intelligence Agencies) को पाकिस्तान स्थित समूहों द्वारा एक नया आतंकवादी संगठन बनाने के बारे में अलर्ट किया गया है. खुफिया जानकारी है कि कश्मीर को टारगेट कर देश भर में तनाव पैदा करने की साजिश रची जा रही है. इसी के तहत आईएसआई (ISI) समर्थित आतंकवादी संगठन ने 200 लोगों की हिट लिस्ट (Hit List) तैयार की है. इनमें कश्‍मीरी पंडित, नेता, मीडियाकर्मी, उधोगपतियों से लेकर गैर-स्‍थानीय लोग शामिल हैं.




साथ ही यह भी तय किया गया है कि पुलिस, सुरक्षा बलों, खुफिया विभागों के साथ काम करने वाले कश्मीरियों को मारना होगा. आईएसआई अधिकारियों और आतंकी समूहों के नेताओं के बीच बैठक के दौरान गैर-कश्मीरी लोगों, बीजेपी और आरएसएस से जुड़े लोगों को भी टारगेट के रूप में चुना गया था.


घाटी में तनाव पैदा करने की बड़ी साजिश
अलर्ट के अनुसार, आईएसआई ने उन 200 लोगों की “हिट-लिस्ट” बनाई थी, जिनकी हत्या घाटी में तनाव पैदा करने के लिए की जाएगी. भारत सरकार के करीबी मीडिया कर्मियों और भारतीय एजेंसियों और सुरक्षा बलों के सूत्रों और मुखबिरों के अलावा, सूची में कथित तौर पर कई कश्मीरी पंडितों के नाम शामिल थे, जो कश्मीर में पंडितों की वापसी की सक्रिय रूप से वकालत कर रहे थे.


आईएसआई (ISI) और आतंकी संगठन उन आतंकवादियों की मदद करने के लिए सहमत हुए जो नवीनतम हमलों और लक्षित हत्याओं के लिए भारतीय सुरक्षा बलों की निगरानी में नहीं हैं. अलर्ट में कहा गया है कि, “इसे एक सहज और पूरी तरह से स्वदेशी गतिविधि के रूप में पेश करने के लिए”, अपराध के कोई रिकॉर्ड नहीं रखने वाले, लेकिन उग्रवाद के प्रति सहानुभूति रखने वाले कश्मीरियों का इस्तेमाल किया जाएगा.


हथियारों की तस्करी जारी
अलर्ट में कहा गया कि इन गतिविधियों को समर्थन देने के लिए उरी और तंगधार से एलसी के जरिए पिस्टल और ग्रेनेड की तस्करी की जा रही है. साथ ही एक नया आतंकी संगठन बनाया गया है, जोकि भारतीय जांच एजेंसियों को गुमराह करने के लिए लक्षित हत्याओं और हमलों की जिम्मेदारी लेगा.

INPUT: TV9

Share This Article.....

Leave a Reply

Your email address will not be published.