अलर्ट ! Bihar के इन इलाकों में अगले 48 घंटे होगी झमाझम बारिश, मौसम विभाग ने जारी की चेतावनी

बिहार में मौसम (Bihar Weather News) का मिजाज बदला हुआ है। राजधानी पटना समेत सूबे के कई इलाकों में रविवार को हल्की से मध्यम बारिश (Rain in Patna) का दौर देखने को मिला है। इस दौरान कई जगह पर तेज आंधी भी आई, जिससे आम जनजीवन प्रभावित हुआ। पिछले 24 घंटे के दौरान पटना में लगभग 1.22 मिमी बारिश दर्ज की गई। पटना में आज भी सुबह से बादल छाए हुए हैं। इस बीच मौसम विभाग ने सूबे के कई इलाकों में अगले दो दिनों तक भारी बारिश का अनुमान जताया है।




18-19 को बिहार में भारी बारिश की आशंका: IMD
पटना स्थित मौसम विज्ञान केंद्र के मुताबिक, ‘पिछले 24 घंटों के दौरान उत्तर-पूर्वी हिस्से में कुछ स्थानों पर और राज्य के बाकी हिस्सों में एक या दो जगहों पर हल्की से मध्यम बारिश हुई है। तैयबपुर में 22 मिमी, बौसी में 10.8 मिमी, ढेंग्राघाट में 10.2 मिमी और गलगलिया 10.2 मिमी बारिश दर्ज की गई है। भारतीय मौसम विभाग (IMD) ने 18 और 19 अक्टूबर को बिहार के दक्षिण, उत्तर-पश्चिम और उत्तर-मध्य हिस्सों में अलग-अलग जगहों पर मध्यम से भारी बारिश की आशंका जताई है।


इस वजह से बदला है मौसम का मिजाज
उत्तरी तेलंगाना और इसके आस-पास स्थित कम दबाव के क्षेत्र की वजह से बारिश के हालात बने हैं। बंगाल की खाड़ी पर नया निम्न दबाव का क्षेत्र बनने की संभावना है, जिसमें साइक्लोजेनेसिस यानी कम दबाव वाले क्षेत्र का साइक्लोनिक सर्कुलेशन में विकास की संभावना है। इससे पहले रविवार को IMD ने बिहार के उत्तर-पश्चिम, दक्षिण-पश्चिम, उत्तर-मध्य और दक्षिण-मध्य भागों के साथ-साथ पटना और कई अन्य जिलों के लिए येलो अलर्ट जारी किया था। इसमें सोमवार तक गरज-चमक के साथ बारिश और वज्रपात की आशंका जताई गई थी।


जानिए मौसम को लेकर विभाग ने और क्या कहा
हालांकि, अब मौसम विभाग के मुताबिक, अगले दो दिनों से बिहार के कई इलाकों में बारिश के हालात नजर आ रहे हैं। ऐसे में अधिकारियों ने लोगों से मौसम में बदलाव को लेकर सतर्क रहने को कहा है। मौसम वैज्ञानिकों के अनुसार, बारिश के बाद दिन और रात के तापमान में कुछ अंतर नजर आ सकता है। धीरे-धीरे तापमान में गिरावट दर्ज की जाएगी। 21 अक्टूबर से एक बार पछुआ हवा चलने के बाद, दिन और रात के तापमान में अहम बदलाव देखेंगे।

INPUT: NBT

Share This Article.....

Leave a Reply

Your email address will not be published.