कारगिल के मास्टरमाइंड और पाकिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति जनरल परवेज मुशर्रफ का निधन, लंबे समय से थे बीमार

पाकिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति जनरल परवेज मुशर्रफ के निधन की खबर सामने आ रही है। दरअसल, उनकी हालत बहुत नाजुक थी, जिसके बाद उन्हें वेंटिलेटर सपोर्ट पर रखा गया था। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, परवेज मुशर्रफ को दिल और अन्य बीमारियों के चलते अस्पताल में एडमिट कराया गया था, जिसके बाद उन्हें दुबई में वेंटिलेटर पर रखा गया था। बीमारी से लड़ते हुए शुक्रवार को परवेज मुशर्रफ देहांत हो गया। 78 साल के मुशर्रफ ने 1999 से 2008 तक पाकिस्तान पर शासन किया था। मुशर्रफ मार्च 2016 से दुबई में रह रहे हैं।

 

बता दें कि 11 अगस्त 1943 को जन्मे परवेज़ मुशर्रफ़ पाकिस्तान के राष्ट्रपति और सेना प्रमुख रह चुके हैं। इन्होंने वर्ष 1999 में नवाज़ शरीफ की लोकतान्त्रिक सरकार का तख्ता पलट कर पाकिस्तान की कमान संभाली थी और 20 जून, 2001 से 18 अगस्त 2008 तक पाकिस्तान के राष्ट्रपति रहे थे। मुशर्रफ़ का जन्म दिल्ली शहर में दरियागंज में हुआ था। भारत के बंटवारे के बाद उनका परिवार कराची में जाकर बस गया था।

 

अप्रैल से जून 1999 तक भारत और पाकिस्तान के बीच हुए कारगिल युद्ध के दौरान मुशर्रफ़ ही पाकिस्तान के आर्मी चीफ थे। अक्टूबर 1999 में नवाज़ शरीफ़ ने जब मुशर्रफ़ को उनके पद से हटाने का प्रयास किया, तो मुशर्रफ़ के प्रति वफ़ादार जनरलों ने शरीफ़ का ही तख्ता पलट करके सरकार पर कब्जा कर लिया। मई 2000 में पाकिस्तान की सुप्रीम कोर्ट ने आदेश दिया कि पाकिस्तान में चुनाव कराए जाएं। मुशर्रफ़ ने जून 2001 में तत्कालीन राष्ट्रपति रफीक़ तरार को हटा दिया और स्वयं राष्ट्रपति बन गए।

Share This Article.....

Leave a Reply

Your email address will not be published.