Agnipath Scheme के खिलाफ तीसरे दिन भी उग्र प्रदर्शन, समस्तीपुर जिले में जम्मूतवी-गुवाहाटी एक्सप्रेस में लगाई आग, मची अफरातफरी

सेना में नई भर्ती स्कीम ‘अग्निपथ’ के खिलाफ लगातार तीसरे दिन उग्र प्रदर्शन हो रहा है. बिहार के समस्तीपुर में आज सुबह जम्मूतवी-गुवाहाटी एक्सप्रेस ट्रेन में उपद्रवियों ने आग लगा दी. ट्रेन की दो बोगियां जलकर खा हो गई. यह हाजीपुर-बरौनी रेलखंड के मोहिउद्दीननगर स्टेशन की घटना है. इधर, बलिया में अग्निपथ स्कीम के विरोध में युवाओ ने तोड़फोड़ और पथराव किया. इसकी वजह से पुलिस को चलानी पड़ी लाठी.

आरा और बक्सर में सुबह से ही विरोध प्रदर्शन देखने को मिल रहा है. अग्निपथ योजना के विरोध में बक्सर के डुमराव रेलवे स्टेशन के पश्चिम गुमटी पर अभ्यर्थियों ने सुबह 5 बजे से ही रेलवे ट्रैक टायर जलाकर प्रदर्शन कर रेह हैं. रेल पुलिस और स्थानीय पुलिस वहां पर मौजूद हैं. इधर, अग्निपथ स्कीम के खिलाफ आरा के बिहिया रेलवे स्टेशन पर लोगों ने बवाल किया. ये सभी सेना बहाली से टीओडी हटाने की मांग कर रहे हैं. इसकी वजह से कई ट्रेनों का संचालन अलग-अलग स्टेशनों पर रोक दिया गया है.

 

आरजेडी ने केन्द्र पर साधा निशाना

इधर, बिहार की मुख्य विपक्षी पार्टी राष्ट्रीय जनता दल ने राज्य में लगातार अग्निपथ स्कीम पर हो रहे विरोध के बाद केन्द्र सरकार पर निशाना साध है. आरजेडी ने ट्वीट करते हुए कहा कि अभी अग्निवीर की भर्ती शुरू भी नहीं हुई कि खुशी में अग्निवीरों ने नवादा,बिहार के भाजपा कार्यालय में “अग्नि” लगा दी. खेदजनक! अग्निवीरों में इतनी आग है इसका अंदाजा तो “अग्निपथ” योजना के निर्माताओं को भी नहीं रहा होगा.

 

 

 

प्रदर्शन के बीच भर्ती की बढ़ी उम्र सीमा

अग्निपथ पर कई राज्यों में हो रहे विरोध प्रदर्शन के बीच सरकार ने गुरुवार को साल 2022 के लिए इस प्रक्रिया के तहत भर्ती की उम्र पूर्व में घोषित 21 साल से बढ़ाकर 23 साल कर दी. इससे पहले, सरकार ने मंगलवार को अग्निपथ योजना की घोषणा करते हुए कहा था कि सभी नयी भर्तियों के लिए आयु साढ़े 17 से 21 वर्ष के बीच होनी चाहिए. रक्षा मंत्रालय के एक प्रवक्ता ने कहा, ‘‘इस तथ्य को ध्यान में रखते हुए कि पिछले दो वर्षों के दौरान भर्ती करना संभव नहीं हुआ, सरकार ने फैसला किया है कि 2022 के लिए प्रस्तावित भर्ती प्रक्रिया के लिए एकबारगी (आयु सीमा में) छूट दी जाएगी.’’

बीजेपी विधायक के घर तोड़फोड़

केंद्र में शासन करने वाली बीजेपी के एक विधायक के छपरा स्थित घर में प्रदर्शनकारियों ने तोड़फोड़ की जबकि नवादा में पथराव की घटना में एक अन्य महिला विधायक घायल हो गईं जहां पार्टी कार्यालय को भी आग के हवाले कर दिया गया है. नवादा के वारिसलीगंज विधानसभा क्षेत्र से भाजपा विधायक अरुणा देवी एक मामले के सिलसिले में जिला अदालत परिसर जा रही थीं. उनकी कार को प्रदर्शनकारियों ने रेलवे क्रॉसिंग के पास घेर लिया और पथराव किया जिससे उन्हें, उनके वाहन चालक, दो सुरक्षा कर्मियों और कई निजी कर्मचारियों को चोटें आईं.

यूपी से राजस्थान तक विरोध

उत्तर प्रदेश के आगरा में प्रदर्शनकारियों ने एक सरकारी बस पर पथराव किया गया, गोरखपुर, अलीगढ़ और मथुरा में नौजवानों ने योजना के खिलाफ रास्ता जाम किया,बलिया में युवाओं के प्रदर्शन के कारण स्वतंत्रता सेनानी एक्सप्रेस को रोकना पड़ा. वहीं, फिरोजाबाद और बुलंदशहर में युवकों ने सड़क पर उतरकर नारेबाजी की. पूर्वोत्तर रेलवे द्वारा जारी बुलेटिन के मुताबिक ‘अग्निपथ योजना’ के खिलाफ धरना-प्रदर्शन के कारण वाराणसी मण्डल के गोरखपुर-छपरा, छपरा-बलिया, सीवान-थावे, छपरा-मसरख-थावे, वाराणसी-गाजीपुर और वाराणसी-प्रयागराज रेल खण्डों पर 21 रेलगाड़ियों का संचालन ठप हो गया, जो समाचार लिखे जाने तक शुरू नहीं हो सका.

आगरा के बाहरी इलाके में सेना भर्ती के अभ्यर्थियों ने अग्निपथ योजना के विरोध में एक सरकारी बस पर पथराव किया, हालांकि इसमें किसी के हताहत होने की खबर नहीं है. इसके अलावा जिले के विभिन्न इलाकों में भी प्रदर्शन किया गया. उन्होंने आगरा-जयपुर राजमार्ग और एमजी रोड पर रास्ता भी जाम किया. गोरखपुर में छात्रों ने अग्निपथ योजना के विरोध में गोरखपुर-लखनऊ राष्ट्रीय राजमार्ग पर रास्ता जाम किया और सरकार विरोधी नारेबाजी की और सरकार से सेना में भर्ती की पुरानी व्यवस्था बहाल करने की मांग की.

हरियाणा के पलवल में भी गुरुवार को ‘अग्निपथ योजना’ के खिलाफ प्रदर्शन हिंसक हो गया. इस दौरान पथराव और गाड़ियों में आगजनी की गई. पुलिस ने हालात पर काबू पाने के लिए बल प्रयोग किया और प्रशासन ने इंटरनेट सेवा को बंद कर दिया है. पुलिस ने 20 से अधिक लोगों को हिरासत में लिया है. अधिकारियों ने बताया कि गुरुग्राम, रेवाड़ी, चरखी दादरी, हिसार और रोहतक में भी विरोध प्रदर्शन हुए.

 

Share This Article.....

Leave a Reply

Your email address will not be published.