‘अग्निपथ’ के विरोध में बिहार बंद आज, रेलवे को निशाना बना रहे उपद्रवी, जानिए आप पर क्या होगा असर ?

अग्निपथ के विरोध की वजह से ट्रेन यात्री लगातार परेशान हैं। शुक्रवार को 214 ट्रेनें कैंसिल हो गई। इनमें कई एक्सप्रेस ट्रेनें हैं। पूर्व- मध्य रेलवे सीपीआरओ वीरेन्द्र कुमार ने भास्कर को बताया, ‘जो ट्रेनें रद्द की गई हैं, उनसे जुडे़ यात्रियों का टिकट कैंसिल किया जा रहा है। कैंसिल कराने का चार्ज नहीं लिया जा रहा है। यात्रियों को पूरे पैसे लौटाए जा रहे हैं।’ वहीं, शनिवार को विपक्ष ने बिहार बंद बुलाया है। इसमें RJD, कांग्रेस, जाप और लेफ्ट पार्टियां शामिल हैं। अब 7 पॉइंट में जानिए, प्रदर्शन और  बिहार बंद बुलाने पर आप पर क्या असर पड़ेगा…?

बीच सफर में ट्रेन रद्द हो गई तो क्या पूरा पैसा मिलेगा

पूर्व मध्य रेलवे के जनसंपर्क अधिकारी वीरेन्द्र कुमार ने बताया कि जो ट्रेनें रद्द हुई हैं, उसका पूरा रिफंड मिलेगा। आज बाधित ट्रेनों के टिकट के कैंसिल कराने पर कोई कैंसिलेशन चार्ज नहीं लिया जाएगा।

दो दिन पहले का जाने का प्लान है, टिकट कैंसिल कराता हूं तो क्या रिफंड पूरा मिलेगा

पूरा रिफंड मिलेगा, ऑनलाइन टिकट के अकाउंट में पैसे आ जाएंगे। विंडो टिकट के लिए स्टेशन पर आना होगा।

क्या रिफंड के लिए टिकट काउंटर पर आना पड़ेगा?

यात्रियों की सुविधा के लिए टिकट रिफंड या वापसी के लिए आवश्यकतानुसार अतिरिक्त टिकट काउंटर खोलने का निर्देश रेलवे ने दिया है। ऑनलाइन टिकट का रिफंड अकाउंट में ट्रांसफर हो जाएगा।

बिहार बंद का क्या असर हो सकता है

आइसा-इनौस, रोजगार संघर्ष संयुक्त मोर्चा और सेना भर्ती जवान मोर्चा ने 18 जून को बिहार बंद का आह्वान किया है। इसलिए आशंका है कि 18 जून को ट्रेनें तो प्रभावित होंगी ही साथ ही सड़क मार्ग पर चलने वाली बसें भी प्रभावित होंगी। इसलिए बहुत जरूरी नहीं हो तो 18 जून को घर से नहीं निकलें।

कहां पर ज्यादा असर हो सकता है?

खास तौर से पटना, भोजपुर, जहानाबाद, बेगूसराय, औरंगाबाद, मुंगेर आदि कई इलाकों में बिहार बंद ज्यादा प्रभावी रहने की आशंका है।

स्कूल क्या बंद रहेगा?

अभी सरकार की तरफ से कोई आदेश जारी नहीं हुआ है। बंद को देखते हुए प्राइवेट स्कूल एंड चिल्ड्रेन वेल्फेयर एसोसिएशन के नेशनल प्रेसिडेंट शमायल अहमद ने बताया कि हमने बिहार के प्राइवेट स्कूलों से आग्रह किया है कि बंद के आह्वान को देखते हुए स्कूलों को 18 जून को बंद रखें। बंद की वजह से बच्चों को किसी तरह की परेशानी नहीं हो इसको देखते हुए यह अपील स्कूलों से की गई है।

एंबुलेंस-अस्पताल और आवश्यक सुविधाओं का क्या?

एंबुलेंस और जरूरी सेवाओं को बाधित नहीं किया जाएगा, लेकिन आम परिचालन पर काफी असर पड़ने की आशंका है।

रेलवे ने दूसरे इतंजाम भी किए हैं?

पूर्व मध्य रेलवे के जनसंपर्क अधिकारी वीरेंन्द्र कुमार ने बताया कि विभिन्न रेलवे स्टेशनों पर 124 ट्रेनों को नियंत्रित किया गया है और आरपीएफ, जीआरपी सहित स्थानीय प्रशासन की मदद से सुरक्षा प्रदान की जा रही है। यात्रियों को पानी और खाना उपलब्ध कराया जा रहा है।

वर्तमान परिस्थितियों को देखते हुए पूर्व मध्य रेल के विभिन्न स्टेशनों पर हेल्पलाइन जारी किया गया है। रेल सुरक्षा बल और वाणिज्य विभाग द्वारा संयुक्त रुप से फंसे यात्रियों को निकालने की व्यवस्था की गई है। पूर्व मध्य रेल लगातार ट्विटर फेसबुक पर भी जानकारी दे रही है। यात्रियों की सुविधा के लिए लंबी दूरी की ट्रेनों को पुनः निर्धारित समय से चलाया जाएगा।

Share This Article.....

Leave a Reply

Your email address will not be published.