शराबबंदी वाले बिहार में शराब पीकर चुनावी ड्यूटी में झूम रहा था पुलिसकर्मी, SP को लगी भनक और फिर…

पंचायत चुनाव के दौरान ढाका प्रखंड के पचपकडी ओपी क्षेत्र अंतर्गत एक बूथ पर तैनात एक पुलिस जमादार शराब के नशे में पाया गया, जिसे पुलिस अधीक्षक नवीनचंद्र झा ने मौके पर गिरफ्तार कर लिया। मामले में उन्होंने प्राथमिकी दर्ज करने का निर्देश दिया है। उन्होंने कहा कि उक्त जमादार को निलंबित भी किया जाएगा और आगे की भी कार्रवाई की जाएगी।




बताया जाता है कि पचपकड़ी के उत्क्रमित विद्यालय मलकौनिया के मतदान केन्द्र संख्या 213 पर पुलिस केन्द्र के जमादार विशेष कुमार स‍िंंह ड्यूटी के दौरान शराब के नशे में धूत थे। इसी बीच वहां पुलिस अधीक्षक श्री भी पहुंच गए और उसकी हरकत को देखकर उसे फौरन गिरफ्तार कर लिया। फिर उसकी ढाका रेफरल अस्पताल व सदर अस्पताल में चिकित्सीय जांच कराई।


फिर उत्पाद विभाग के कार्यालय में भेजकर मशीन से इसकी जांच कराई। जांच रिपोर्ट पॉजीटिव पाए जाने के बाद उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया। यहां बता दें कि पंचायत चुनाव कराने के लिए ड्यूटी के क्रम में ही उसने कहीं शराब पी ली तथा मतदाताओं के साथ बदसलूकी कर रहा था। इसकी सूचना पर पहुंचे पुलिस अधीक्षक ने उसे जांच के लिए ढाका रेफर अस्पताल भेजा। फिर उसे सदर अस्पताल में लाया गया। नगर थाना के पुलिस निरीक्षक विजय कुमार राय ने मेडिकल जांच में उसके शराब पीने की पुष्टि हुई है।


बारिश के बीच आधी आबादी ने जमकर मनाया लोकतंत्र का जश्न
लगातार हो रही बरसात के बावजूद भी आज चतुर्थ चरण के पंचायत चुनाव में आधी आबादी ने जमकर भागीदारी की। जिले में चतुर्थ चरण के मतदान के तहत ढाका व केसरिया में मतदान कार्य शुरू होने के साथ ही तमाम मतदान केंद्रों पर महिलाओं की आमद शुरू हो गई। कई मतदान केंद्रों पर महिलाओं की लंबी कतार देखी गई। यह क्रम मतदान की प्रक्रिया संपन्न होने तक जारी रहा। बता दे कि जिले में पिछले 48 घंटों से बरसात का दौर जारी है। ऐसे मौसम में भी मतदान वाले दोनो क्षेत्रों में महिलाओं ने जमकर मतदान किया। दिन के 12 बजे ढाका के करमावा स्थित मतदान केन्द्र संख्या 162 पर मतदान करने पहुंची प्रभावती देवी बताती हैं कि बरसात के कारण थोड़ी दिक्कत जरूर हुई लेकिन लोकतंत्र के इस महापर्व में शामिल होकर उन्हें बहुत अच्छा लग रहा है।


वे बताती हैं कि उनका वोट विकास के नाम गया है। वहीं पास में खड़ी स्नातक की छात्रा बबीता बताती हैं कि वे खासतौर से मतदान में शामिल होने के लिए शहर से यहां आई हैं। वे बताती हैं कि पंचायत लोकतंत्र की प्राथमिक इकाई है। देश के भविष्य की दशा व दिशा यहीं से तय होना होता है। लोकतंत्र के इस महापर्व में शामिल होकर उन्हें गर्व महसूस हो रहा है। बच्चों को बेहतर शिक्षा व विकास के लिए उन्होंने अपने मताधिकार का प्रयोग किया है। वही बूथ संख्या 18 पर मतदान को पहुंची अनामिका कुमारी बताती हैं कि पंचायत चुनाव लोकतंत्र की सबसे प्रमुख इकाई है।

INPUT: JNN

Share This Article.....

Leave a Reply

Your email address will not be published.