Social Media पर कल भारत बंद का मैसेज वायरल, अलर्ट मोड पर प्रशासन, चप्पे चप्पे पर पुलिस बल रहेगा तैनात

अग्निपथ बहाली के विरोध में बीते 5 दिनों से चल रहे हंगामे के बीच अब 20 जून को भी भारत बंद का आवाहन किया गया है। इधर विरोध के मद्देनजर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का ‘जनता दरबार’ भी स्थगित रहेगा। इस भारत बंद को लेकर किसी भी राजनीतिक दल ने कोई आधिकारिक सूचना नहीं दी है। लेकिन, सोशल मीडिया पर खबर लगातार चल रही है कि 20 जून को भारत बंद रहेगा, चक्का जाम रहेगा।

AISA और RYA ने भारत बंद का किया समर्थन
सोशल मीडिया पर आ रही इन खबरों से प्रशासन अलर्ट पर है। हालांकि कुछ छात्र संगठन संगठनों ने 20 जून के चक्का जाम का समर्थन किया है। जिसमें AISA और RYA शामिल है। मुजफ्फरपुर से सूचना है कि सोशल मीडिया पर भारत बंद की खबर के मद्देनजर वहां के स्थानीय प्रशासन ने अलर्ट की घोषणा कर दी है। मुजफ्फरपुर के स्थानीय नेता आशुतोष कुमार ने इस भारत बंद का समर्थन किया है।

सूचना के मुताबिक आर्मी की भर्ती में अग्निपथ भर्ती प्रक्रिया लागू करने के विरोध में और पुरानी भर्ती प्रक्रिया बहाल करने को लेकर छात्र संगठनों AISA और RYA द्वारा 17 जून से लेकर 20 जून को देशव्यापी विरोध दिवस मनाने और बिहार बंद का आह्वान किया गया है। विभिन्न राजनीतिक दलों के द्वारा इसके समर्थन किए जाने की सूचना है।

राष्ट्रीय जन जन पार्टी एवं भूमिहार ब्राह्मण एकता मंच के संस्थापक आशुतोष कुमार के द्वारा भी सोशल मीडिया पर 20 जून को चक्का जाम करने और दिल्ली मार्च करने का आह्वान किया गया है। आंदोलन के दौरान छात्र संगठनों द्वारा सार्वजनिक संपत्ति सरकारी कार्यालय सड़क रेल अस्पताल बस स्टैंड को क्षति पहुंचाने की संभावना से इनकार नहीं किया जा सकता है। ऐसे में प्रशासन ने सभी दंडाधिकारी पुलिस पदाधिकारी पुलिस बल की प्रतिनियुक्ति 19 जून से लेकर अगले आदेश तक के लिए कर दिया है।

हाजीपुर स्टेशन पर भी बढ़ाई गई सुरक्षा
20 जून के भारत बंद के आह्वान को लेकर हाजीपुर स्टेशन की भी सुरक्षा बढ़ाई गई। स्टेशन पर चप्पे-चप्पे पर एसएसबी के जवान तैनात किए गए हैं। हाजीपुर के साथ ही सोनपुर जोन से सभी बड़े-छोटे स्टेशनों पर भी भारी संख्या में सुरक्षा मानकों को ध्यान में रखते हुए एसएसबी के जवानों को तैनात कर दी है।

इससे पहले 18 जून को बिहार को बंद किया गया था, जिसमें अलग-अलग राजनीतिक दलों ने समर्थन किया था। बीते 5 दिनों से चल रहे आंदोलन में 15 ट्रेनों को आग के हवाले कर दिया गया। तोड़फोड़ की गई, आगजनी की गई ,लूटपाट भी किया गया। एहतियात के तौर पर प्रशासन ने अलर्ट जारी करते हुए अपने सभी पदाधिकारियों और पुलिस बल को मौके पर मौजूद रहने का निर्देश दिया है।

INPUT: Bhaskar

Share This Article.....

Leave a Reply

Your email address will not be published.