उत्तर बिहार में रेलवे को ‘अग्निपथ’ से 50 करोड़ का नुकसान, करोड़ों के टिकट भी हुए रद्द

बवाल से उत्तर बिहार में रेलवे को करीब पचास करोड़ रुपये की क्षति हुई है। उपद्रवियों ने समस्तीपुर जंक्शन के पास डाउन बिहार संपर्क क्रांति के चार कोच को फूंक दिया।

इस स्टेशन पर अमरनाथ एक्सप्रेस के इंजन को भी आग के हवाले कर दिया था। मोहिउद्दीननगर स्टेशन पर जम्मूतवी-गुवाहाटी लोहित एक्सप्रेस के सात कोच को फूंक दिया। इसमें पांच एसी कोच कोच थे।

ट्रेनों और स्टेशनों पर आगजनी व तोड़फोड़ से रेलवे को करीब चालीस करोड़ रुपये की क्षति हुई है। इसके अलावा ट्रेनें रद्द होने से सोनपुर व समस्तीपुर रेल मंडल को करीब दस करोड़ रुपये की क्षति हुई है। सोनपुर व समस्तीपुर रेल मंडल को रोजाना आरक्षण टिकट से ढाई करोड़ रुपये की आय होती है। 60 लाख रुपये के गैर आरक्षित टिकट जारी होते है। दो दिनों से टिकट बुकिंग नहीं होने व रद्द होने से दोनों मंडल को दस करोड़ रुपये की क्षति हुई है। रेल अधिकारियों ने बताया कि उपद्रव के कारण सबसे अधिक क्षति रेलवे के मैकेनिकल विभाग को हुई है। एक इंजन जलने से 18 करोड़, सात एसी कोच जलने से 14 करोड़, तीन स्लीपर कोच जलने से पौने चार करोड़ व एक एसएलआर व एक जनरल कोच फूंके जाने से दो करोड़ की क्षति हुई है।

समस्तीपुर जंक्शन पर तोड़फोड़ व आगजनी से रेलवे को सबसे अधिक क्षति हुई है। सीसीटीवी, सिग्नल व डिजिटल डिस्प्ले तोड़े जाने से 17 लाख रुपये की क्षति हुई है। वहीं, अमृतसर-दरभंगा एक्सप्रेस व अमरनाथ एक्सप्रेस में तोड़फोड़ से दस लाख रुपये की क्षति हुई है। हाजीपुर, बेतिया व नरकटियागंज आदि स्टेशनों पर भी तोड़फोड़ से लाखों की क्षति हुई है।

बवाल के कारण रेलवे को करोड़ों रुपये की क्षति हुई है। आगजनी व तोड़फोड़ से हुई क्षति के संबंध में अलग-अलग मंडल से रिपोर्ट भेजी जा रही है। इस क्षति की भरपाई करना मुश्किल है।

-वीरेंद्र कुमार, सीपीआरओ

रेल संपत्ति की कीमत

लोकोमोटिव इंजन 18 करोड़ रुपये

एसी कोच 2 करोड़ रुपये

स्लीपर कोच 1.25 करोड़ रुपये

जनरल कोच 01 करोड़ रुपये

INPUT: Hindustan

Share This Article.....

Leave a Reply

Your email address will not be published.