गुड न्यूज: उत्तर बिहार से पटना की कनेक्टिविटी होगी बेहतर, 24 जून को CM नीतीश करेंगे जेपी गंगा पथ और अटल पथ-दो का लोकार्पण

आगामी 24 जून को गंगा किनारे बन रहे जेपी गंगा पथ और अटल पथ फेज-दो आम जनता के लिए खुल जाएगा। दोनों सड़कों का लोकार्पण मुख्यमंत्री नीतीश कुमार करेंगे।

उद्घाटन समारोह में पथ निर्माण मंत्री नितिन नवीन भी मौजूद रहेंगे। उद्घाटन के पूर्व मंत्री ने पथ निर्माण के अपर मुख्य सचिव प्रत्यय अमृत, सचिव संदीप कुमार आर पुडकलकट्टी, पथ विकास निगम के सीजीएम संजय कुमार सहित अन्य विभागीय अधिकारियों के साथ दोनों परियोजनाओं का जायजा लिया।

नवीन ने कहा कि 24 जून को शाम 4.30 बजे सीएम इसका उद्घाटन करेंगे। मुंबई की तर्ज पर पटना में गंगा किनारे बन रहे जेपी गंगा पथ के प्रथम फेज का काम पूरा हो गया है। दीघा से पीएमसीएच तक बने इस सड़क की लंबाई 7.4 किमी है जिसमें 6.5 किमी में 13 मीटर ऊंचाई तक पथ का निर्माण बांध बनाकर किया गया है। वैसा भाग जहां गंगा को पटना के नजदीक लाने हेतु गंगा चैनल का निर्माण किया गया है वहां वृहद पुलों का निर्माण किया गया है। उद्घाटन होने के बाद गंगा पथ से एएन सिन्हा संस्थान के पास सम्पर्क पथ के द्वारा अशोक राजपथ और पीएमसीएच से जुड़ जाएगा। इस पथ के सहारे पीएमसीएच आने वाले वाहन सीधे अस्पताल परिसर में प्रवेश कर जाएगा। लगभग 40 मीटर चौड़ी सड़क के किनारे 5 मीटर चौड़े पैदल पथ का निर्माण किया गया है।

मंत्री ने कहा कि अटल पथ के पहले चरण में आर ब्लॉक से दीघा तक सड़क बनी है, उसका लोकार्पण 15 जनवरी 2021 को हो चुका है। इसके दूसरे चरण में दीघा से गंगा पथ तक का निर्माण कराया गया है। 70 करोड़ की लागत से बनी इस सड़क के बन जाने से अटल पथ से गंगा पथ होते हुए जेपी सेतु पार कर सकेंगे। इस सड़क को बनाने में दानापुर-अशोक राजपथ के ऊपर आरओबी का निर्माण हुआ है। इसके लिए एफसीआई के गोदाम की कुछ भूमि को अधिग़ृहित किया गया। लगभग 1.30 किमी लंबी 4 लेन सड़क का निर्माण कर इसे जेपी गंगा पथ के दीघा छोर पर रोटरी से जोड़ दिया गया है। इस सड़क के बन जाने से नेहरू पथ से सीघे गंगा पथ आया-जाया जा सकता है। दीघा रोटरी के पास पहुंच कर जेपी सेतु से उत्तर बिहार आना-जाना सुगम हो जाएगा। इसके अतिरिक्त बेली रोड से पीएमसीएच जेपी गंगा पथ से होते हुए आना-जाना भी सुगम हो जाएगा।

मीठापुर आरओबी का भी होगा उद्घाटन

आगामी 24 जून को मीठापुर आरओबी का भी उद्घाटन होगा। मंत्री ने कहा कि पिछले वर्ष दिसम्बर 21 में इसका निर्माण कार्य पूर्ण होने का रास्ता प्रशस्त हुआ जब करबिगहिया फ्लाईओवर के मीठापुर आर्म के नक्शे पर सहमति विमानन मंत्रालय (रेल संरक्षण आयोग) ने दी थी। यह निर्माण कार्य पटना-गया रेलमार्ग के ऊपर किया गया है। यह योजना कई वर्षों से लंबित थी जो अब पूरी हो चुकी है। इस फ्लाईओवर के पूर्ण होने से कंकड़बाग से आने या जाने वाले यात्री सीधे गर्दनीबाग, अनिसाबाद और खगौल आ-जा सकेंगे। इससे बेली रोड पर ट्रैफिक का भार इससे कम होगा। इसके निर्माण में सभी सुरक्षात्मक पहलुओं पर विशेष ध्यान दिया गया है। इसके निर्माण के वक्त कभी भी ट्रेनों का परिचालन नहीं रूका। सभी गर्डर का निर्माण रेलवे के गाईडलाईन के अनुरूप किया गया है।

Share This Article.....

Leave a Reply

Your email address will not be published.