Agnipath बवाल: उपद्रवियों को पकड़ने के लिए पटना, वैशाली और मुजफ्फरपुर में छापेमारी, 10 से अधिक गिरफ्तार

अग्निपथ भर्ती योजना के विरोध तोड़फोड़ व आगजनी के मामले में पटना जिले में कई थानों में दर्ज मामलों में पुलिस की विशेष टीम लगातार छापेमारी कर रही है. टीम ने पटना के साथ ही वैशाली व मुजफ्फरपुर में भी छापेमारी की और 10 से अधिक आरोपितों को गिरफ्तार किया. ये सभी दानापुर, मसौढ़ी, नौबतपुर थाने में दर्ज मामलों में पकड़े गये हैं. मसौढ़ी में दर्ज मामले में अभिषेक कुमार, मनीष कुमार, उमेश कुमार, अजीत कुमार, नीतीश कुमार व पवन कुमार गिरफ्तार किये गये हैं, जबकि नौबतपुर में दर्ज मामले में नंद कुमार पकड़े गये हैं. खास बात यह है कि पकड़े गये अभियुक्तों में वैसे भी लोग शामिल हैं, जिन्होंने वाट्सएप ग्रुप पर उपद्रव को सपोर्ट किया था.

गुरु रहमान को भेजा जायेगा नोटिस

जानकारी के अनुसार, पटना पुलिस के साथ ही साइबर क्राइम सेल की टीम भी जांच कर रही है. साइबर क्राइम सेल उन तमाम वाट्सअप ग्रुपों को खंगाल रही है, जिसमें हंगामा से लेकर चैटिंग की गयी थी और समर्थन किया गया था. दानापुर थाने में दर्ज मामले में अधिकतर वैसे ही अभियुक्त हैं, जो किसी ने किसी वाट्सएप ग्रुप से ही जुड़े थे. गुरु रहमान को नोटिस देकर बुलाया जायेगा और उनसे पूछताछ की जायेगी. अगर उनकी संलिप्तता सामने आयेगी, तो फिर आगे की कार्रवाई की जायेगी. एसएसपी डॉ मानवजीत सिंह ढिल्लो ने बताया कि अभियुक्तों की गिरफ्तारी के लिए अलग-अलग टीमें काम कर रही हैं.

रेल एसपी तारेगना पहुंचे, दिये निर्देश

मसौढ़ी. तारेगना स्टेशन स्थित जीआरपी थाने पर बुधवार को रेल एसपी प्रमोद कुमार मंडल पहुंचे. उन्होंने एक-एक चीजों को बारीकी से देखने के बाद तारेगना जीआरपी को कई निर्देश दिये. उन्होंने स्पष्ट शब्दों में स्थानीय रेल पुलिस को कहा कि शनिवार को हुए उपद्रव में शामिल जो भी हो, एक भी बच नहीं पाये. इसके लिए उन्होंने तकनीकी साक्ष्य जुटाने पर बल दिया. कहा कि वाट्ससएप ग्रुपों की जांच कर दोषियों तक पहुंचें.जीआरपी तारेगना ने तकनीकी साक्ष्य के माध्यम से अब तक 22 लोगों को चिह्नित किया है, जो उपद्रव में शामिल थे.

दानापुर: गिरफ्तारी के लिए टीम गठित

दानापुर. दानापुर स्टेशन पर तोड़फोड़ व आगजनी करने वाले उपद्रवियों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस टीम गठित की गयी है. एएसपी द्वारा थानाध्यक्ष केपी सिंह के नेतृत्व में बनी टीम में रूपसपुर, शाहपुर, खगौल, मनेर व नेऊरा के थानाध्यक्ष समेत कई पुलिस पदाधिकारी के साथ टेक्निकल सेल सहायक पुलिस कर्मी शामिल होंगे. टीम सीसीटीवी फुटेज, वीडियो, फोटो समेत अन्य आधार पर शिनाख्त कर उपद्रवियों को गिरफ्तारी करेगी. थानाध्यक्ष कमलेश्वर प्रसाद सिंह ने बताया कि 28 उपद्रवियों को गिरफ्तार कर जेल भेजा जा चुका है.

Share This Article.....

Leave a Reply

Your email address will not be published.