Muzaffarpur में बड़ा नाव हादसा, बागमती नदी में पलटी नाव, चारा काट कर लौट रहे थे सभी

मुजफ्फरपुर. जिले के जिले के औराई थाना क्षेत्र अंतगर्त मधुबन प्रताप घाट पर शुक्रवार की दोपहर नाव पलट गयी. बागमती नदी की दक्षिणी उपधारा में हरा पशु चारा लेकर लौट रही नाव अचानक अनियंत्रित हो गयी.

नाव डूबने लगी तो स्थानीय लोगों की भीड़ जुट गयी. इसके बाद लोगों को निकाला गया. अब भी पांच लोगों के लापता होने की आशंका है. कहा जाता है कि नाव पर 30 लोग सवार थे. वहीं, सभी हरा पशु चारा लेकर बागमती परियोजना दक्षिणी बांध की तरफ आ रहे थे.




पटोरी गांव की शोभा देवी ने बताया कि घास लेकर मधुबन प्रताप गांव की ओर से नाव आ रही थी. जहां नाव को आर पार करने के लिए तार लगाया गया है. जिसमे लगा रस्सी तार से छूट गया. जिस कारण नाव भंसने लगी व चचरी पुल में फंस गयी.

नाव पर सवार लोग बांस पकड़ कर कूदने लगे. इस बीच, नाव डूब गयी. स्थानीय लोगों ने लोगों को पानी से बाहर निकाला, लेकिन करीब पांच लोगों के लापता होने की आशंका है. लापता पांच लोगों की खोज जारी है. इसमें अधिकांश लोग पटोरी गांव के बताये जा रहे है. पटोरी गांव की इंदु देवी ,अमला देवी ,खुशबू कुमारी, बेचन राय ने बताया कि किसी तरह से जान बचाकर हम लोग नदी किनारे आये हैं.


गौरतलब है कि एक द‍िन पहले दरभंगा जिले के कुशेश्वरस्थान पूर्वी प्रखंड के कमला-बलान नदी में कोनिया घाट से यात्रियों को लेकर सिसौमा घाट के चली नाव सुबह लगभग नौ बजे नदी के बीच मझधार में डूब गयी.

नाव पर पंद्रह लोग सवार थे. उनमें से बारह डूब गए. हालांकि, दस लोगों को सुरक्षित निकाल लिया गया, जबकि दो लोग अब भी लापता हैं. बिरौल के एसडीओ के नेतृत्व में प्रशासनिक टीम मौके पर कैंप कर रही है. लापता लोगों की लगातार खोज चल रही है.

INPUT: Prabhat Khabar

Share This Article.....

Leave a Reply

Your email address will not be published.