बिहार में आसमानी आफत का कहर, बीते 24 घंटों में बारिश और ठनका से 21 लोगों की मौत

बिहार में मानसून पूरी तरह से एक्टिव हो गया है। पटना समेत 20 जिलों में बुधवार सुबह से ही जोरदार बारिश हो रही है। मौसम शाम तक ऐसा ही रहने वाला है। 20 जिले में ऑरेंज अलर्ट भी जारी किया गया। इनमें भारी बारिश का अनुमान है। पिछले 24 घंटे में बिहार में बारिश और आकाशीय बिजली से 21 लोगों की जान जा चुकी है।

आकाशीय बिजली और बारिश से बिहार में 24 घंटे में 21 लोगों की जान जा चुकी है। मुजफ्फरपुर में 2, मोतिहारी में 4 , भोजपुर में 6, छपरा में 3, बेतिया में 2, अररिया में 2, बांका में 1 और अरवल में एक की मौत हुई है।

बुधवार सुबह पटना, मुजफ्फरपुर, समस्तीपुर, वैशाली, बक्सर, नालंदा, नवादा, शेखपुरा, बेगूसराय, खगड़िया में बारिश और आकाशीय बिजली का अलर्ट है। सहरसा, दरभंगा, मधुबनी, सीवान, सारण, भोजपुर, औरंगाबाद, अरवल, जहानाबाद और गया जिले में आंधी-बारिश और ठनका गिरने की आशंका है।

पटना, गया, नालंदा, नवादा सहित 19 जिलों में हल्की बारिश के साथ ही वज्रपात होगा। जबकि, सीवान, गोपालगंज, पश्चिम चंपारण में भारी बारिश को लेकर मौसम विभाग ने अलर्ट जारी किया है।

बता दें कि बिहार में एक साथ दो हवाओं का सिस्टम सक्रिय है। इसके साथ ही चक्रवाती हवाओं का प्रभाव राजस्थान से बंगाल खाड़ी तक बना हुआ है। जिसकी वजह से उत्तर बिहार के सभी जिलों में मध्यम दर्जे की बारिश होने के आसार है।

मौसम विभाग के मुताबिक 15 दिनों के बाद बिहार में दो हवाएं एक साथ सक्रिय हुई हैं। जिसमें उत्तर बिहार में पूर्व और दक्षिण-पूर्व और दक्षिण बिहार में पछुआ हवाओं का प्रभाव है।

जिसकी वजह से बिहार के सभी हिस्से में बारिश का सिस्टम सक्रिय है। इसके साथ ही तेज हवा, वज्रपात का भी असर दिखाई देगा।

पटना में मंगलवार की सुबह से ही बादल छाए हुए थे। इस दौरान रुक-रुक कर 12 से 17 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से हवाएं चली और देर शाम तक हल्की बूंदा-बांदी होती रही। जिसके प्रभाव से उमस भरी गर्मी का एहसास रहा।

हालांकि तापमान में गिरावट दर्ज हुई। अधिकतम तापमान सामान्य से एक डिग्री कम 33.4 और न्यूनतम तापमान सामान्य से तीन डिग्री अधिक 29.3 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

Share This Article.....

Leave a Reply

Your email address will not be published.