‘मेरी लाश मत ढूंढ़ना, मिलेगी ही नहीं’: मुजफ्फरपुर में सुसाइड नोट लिख लापता हुई छात्रा, मैट्रिक में आए थे 59% नंबर


मुजफ्फरपुर में मैट्रिक में कम मार्क्स आने से परेशान एक छात्रा सुसाइड नोट लिखकर घर से लापता हो गई। 15 साल की छात्रा ने नोट में लिखा है, ‘मेहरबानी करके मेरी लाश को नहीं खोजिएगा। भूल जाइएगा कि आपकी कोई बेटी थी।’




परिजनों उसकी तलाश में जुटे हुए हैं पर उसका अब तक कुछ भी पता नहीं चला है। मामला भगवानपुर के गणेशदत्त नगर का है। परिजनों ने थाना में इसकी सूचना दे दी है। छात्रा की पहचान श्रेया कुमारी उर्फ खुशी (15) के रूप में की गई। वो तुर्की ओपी के कफेन में अपने ननिहाल से लापता हुई है।


उम्मीद थी कि कम से कम 90% मार्क्स आएंगे
श्रेया के पिता चन्द्रमणि ललन हार्डवेयर दुकानदार हैं। उन्होंने बताया कि चार दिन पूर्व उसे लेकर ननिहाल गए थे। श्रेया ने कहा कि आपलोग घर जाइए। हम श्रावणी मेला देखने के बाद आएंगे। इसी बीच शुक्रवार को उसका रिजल्ट आया। उसे उम्मीद थी कि कम से कम 90% मार्क्स आएंगे।


लेकिन, उसे सिर्फ 59% मार्क्स आया। इस कारण वह मायूस हो गई थी। शनिवार की रात वो खाना कर सो गई। रविवार सुबह उसे जगाने कमरे में पहुंचे तो श्रेया लापता थी। उसके बिछावन पर एक सुसाइड नोट पड़ा हुआ था।


लिखा- मुझे भूल जाइएगा की कोई आपकी बेटी थी
नोट में श्रेया ने लिखा – ‘आई एम सॉरी, मुझे अब इस दुनिया से जाना होगा। बहुत जी ली मैंने ये जिंदगी, बस अब और हिम्मत नहीं है जीने की। आप लोग बहुत याद आएंगे। उम्मीद करती हूं कि अगले जन्म में आप लोग ही मुझे मिलेंगे। मेहरबानी करके मेरी लाश को नहीं खोजिएगा।


क्योंकि, वह नहीं मिलेगा। गंगा के किनारे खुद को मारने जा रही हूं। उम्मीद करती हूं कि मेरे रिजल्ट के कारण आप लोग का जो इंसल्ट हुआ है, वह कम हो जाएगा। कोई मेरे बारे में पूछेगा तो बोलिएगा की हार्ट अटैक से वह मर गई। भूल जाइएगा मुझे कि कोई आपकी बेटी भी थी।’


खोजबीन में जुटे परिजन, सुराग नहीं
पिता ने बताया कि रात को वह खाना खाने के बाद सोने गई थी। ननिहाल वालों ने बताया कि वह बिल्कुल सामान्य व्यवहार कर रह थी। खाकर अपने कमरे में सोने चली गई थी। सुबह जब उसे उठाने गए तो वह लापता थी। तब से सभी रिश्तेदार और परिचित हर जगह उसे तलाश रहे हैं। नदी, नहर, पोखर और गंगा किनारे तक लोग खोजबीन करने गए हुए हैं। लेकिन, उसका सुराग अब तक नहीं मिला है।


पिता ने कहा- बेटी हम तुम्हारे बिना नहीं जी पाएंगे
श्रेया की मां कुमारी नीलमणि ने बेटी के लापता होने के गम में खाना पीना सब छोड़ दिया है। वह बदहवास अपनी बेटी को याद कर विलाप कर रही हैं। पिता मीडिया के माध्यम से अपील कर रहे हैं, ‘बेटी तुम जहां भी लौट आओ। तुम्हारे पापा बिल्कुल अकेले हो गए हैं। तुम्हारे बिना नहीं जी पाएंगे।’


इधर, छात्रा की तलाश में तुर्की ओपी की पुलिस भी जुटी हुई है। प्रभारी रवि प्रकाश ने बताया कि सभी संभावित जगहों पर उसकी तलाश की जा रही है। आसपास के थाना को भी सूचित कर दिया गया है। छात्रा की तस्वीर भी भेज दी गई है।


फेल होने पर कमांडेंट के बेटे ने की खुदकुशी
दो दिन पहले शुक्रवार को सीबीएसई 12वीं का रिजल्ट आया था। इसमें नालंदा में हिलसा के खोरमपुर मोहल्ला के सीआईएसएफ कमांडेंट भोनू पासवान का 17 साल का बेटा सूरज फेल हो गया था। उसने उसी रात खुदकुशी कर ली। कई आईएएस, आईपीएस और आईआरएस अफसर सोशल मीडिया पर अपनी मार्कशीट शेयर कर बच्चों काे संदेश दे रहे हैं कि अभी का रिजल्ट बहुत मायने नहीं रखता, बड़ी सफलता के द्वार आगे भी खुले हैं।

INPUT: Bhaskar

Share This Article.....

Leave a Reply

Your email address will not be published.