किन सेवाओं पर चार्ज वसूलते हैं बैंक..? खाता खोलने से पहले ये बातें जानना भी है बेहद जरूरी

आप एक ग्राहक के रूप में ऑफलाइन और ऑनलाइन दोनों तरह से कई बैंकिंग सेवाओं का उपयोग करते हैं। इनमें से कुछ सेवाएं मुफ्त हैं, जबकि कुछ पर बैंक चार्ज वसूलते हैं। बैंक ज्‍यादातर अपने ग्राहकों को मुफ्त सेवाएं देते हैं। इन सेवाओं में मुफ्त एटीएम कार्ड, चेकबुक और ऑनलाइन सेवाएं शामिल होती हैं। आमतौर पर एक सीमा के दायरे में सेवाएं मुफ्त होती हैं। लेकिन, कुछ सेवाओं के सीमा से अधिक इस्‍तेमाल पर शुल्क वसूला जाता है। ऐसे में बैंकिंग सेवाओं का लाभ उठाने से पहले, आपको बैंकों की ओर से लगाए जाने वाले तमाम तरह के शुल्क के बारे में पता होना चाहिए। आइए जानें बैंक किन सेवाओं पर शुल्‍क वसूलते हैं।

इन सेवाओं पर शुल्‍क वसूलते हैं बैंक

अक्सर बैंकों की ओर से सेवाओं पर लगाया जाने वाला शुल्क नाममात्र का होता है। यह केवल तभी लगाया जाता है जब खाताधारक की ओर से मुफ्त सेवाओं निर्धारित सीमा पार हो जाती है। उदाहरण के लिए, यदि आपका बैंक बैलेंस न्यूनतम बैलेंस सीमा से नीचे चला जाता है, तो आपको शुल्क का भुगतान करना होगा। इसी तरह मुफ्त एटीएम निकासी की संख्या भी निर्धारित होती है, इससे परे जाने पर शुल्क लागू हो सकते हैं। अन्य सामान्य शुल्कों में डेबिट कार्ड वार्षिक शुल्क, चेक बुक जारी करने या बाउंस शुल्क और भुगतान हस्तांतरण शुल्क शामिल हैं।

होम बैंकिंग सेवाओं पर लगता है शुल्‍क

नकद निकासी और जमा राशि के आधार पर भी मामूली शुल्क लगाया जा सकता है। होम बैंकिंग सेवाएं जैसे कैश डिलीवरी आदि भी चार्जेबल हैं। यदि आप कर्ज के लिए आवेदन करते हैं, तो प्रक्रिया और दस्‍तावेज शुल्क लिया जाएगा। वैसे बैंक ग्राहकों को बुनियादी सेवाओं पर लागू होने वाले सभी शुल्कों और इनमें किसी भी प्रस्तावित बदलाव के बारे में समय पर जानकारी देते हैं। वे अपनी आधिकारिक वेबसाइटों और मोबाइल एप पर भी शुल्क से संबंधित जानकारी अपलोड करते हैं।

पसंदीदा ग्राहकों को मुफ्त सेवाएं भी देते हैं बैंक

विभिन्‍न बैंकों के शुल्‍क अलग अलग हो सकते हैं। आमतौर पर सभी बैंकों की प्रकृति एक समान नहीं होती है। बैंकों की ओर से वसूला जाने वाला शुल्‍क आपके बैंक खाते के प्रकार पर भी निर्भर करता है। बैंक निर्धार‍ित पेज से ज्‍यादा वाले चेकबुक की डिमांड पर भी शुल्‍क वसूल सकते हैं। अक्‍सर यह भी देखा जाता है कि बैंक वित्तीय संस्थान के साथ मजबूत रिश्‍तों वाले पसंदीदा ग्राहकों को मुफ्त सेवाएं और विभिन्‍न शुल्क में छूट भी प्रदान करते हैं।

लोन के लिए वसूले जाते हैं इतने तरह के शुल्‍क

बैंक होम लोन के लिए आवेदन करते समय आवेदन शुल्क, प्रक्रिया शुल्क, कानूनी और दस्‍तावेजी शुल्क ले सकते हैं। कर्ज के लिए बैंकों के पास जमा किए गए दस्तावेजों की डुप्लिकेट प्रतियों की आवश्यकता पर आपको अन्य शुल्क भी चुकाने पड़ सकते हैं। यदि कर्ज निश्चित ब्याज दरों पर है तो बैंक फौजदारी शुल्क भी वसूल सकते हैं। लॉकर के लिए भी शुल्‍क वसूला जाता है। डेबिट कार्ड से विदेश में भुगतान करने पर भी शुल्‍क लगाया जा सकता है। डिमांड ड्राफ्ट (डीडी) के लिए भी बैंक आपसे शुल्क लेते हैं।

Share This Article.....

Leave a Reply

Your email address will not be published.