Muzaffarpur में PDS के दुकानदार ने मंगवाई थी जहरीली शराब, घर छोड़कर हुआ फरार

मुजफ्फरपुर जहरीली शराब कांड का तार एक PDS दुकानदार से जुड़ता दिख रहा है। पुलिस की छानबीन में पता लगा है कि उसी ने शराब की खेप मंगवाई थी और इलाके में सप्लाई किया था। इसमें से शराब उस रात पार्टी में भी पहुंची थी। इसे पीने से सरैया के रुपौली में पांच लोगों की मौत हो गयी थी। जब पुलिस ने उस PDS दुकानदार के घर छापेमारी की तो वह फरार मिला। उसकी गिरफ्तारी के लिए सरैया पुलिस के अलावा ALTF व विशेष टीम को SSP ने लगाया है। दोनों विशेष टीम सरैया के कोल्हुआ और उससे सटे वैशाली के सीमावर्ती गांवों में वैशाली पुलिस की मदद से छापेमारी की। लेकिन, दुकानदार को सुराग पुलिस को नहीं मिल सका है।




परिजनों को चेतावनी देकर उसे पुलिस के समक्ष समर्पण करने को कहा है। जनवितरण प्रणाली के दुकानदार ने ही वैशाली से शराब की खेप मंगवायी थी और सरैया इलाके में उसकी खेप पहुंचवायी थी।

इधर, जिला प्रशासन व पुलिस ने सरैया शराब कांड के रिपोर्ट को मुख्यालय भेज दिया है। हालांकि, रिपोर्ट को प्रशासन ने गोपनीय रखा है। अधिकारी रिपोर्ट में क्या लिखा है, इसकी जानकारी देने से इनकार किया है। यह रिपोर्ट संयुक्त रुप से तैयार की गई है।


बता दें कि, शुक्रवार को सरैया के रुपौली में शराब पीने के बाद पांच के मरने की सूचना पर DM प्रणव कुमार और SSP जयंतकांत मौके पर पहुंचकर छानबीन की थी। साथ ही मृतकों के घर जाकर उनके परिजनों से भी जानकारी और शराब से संबंधित टोह लिया था।

इधर, पुलिस ने इस मामले में आधा दर्जन से अधिक लोगों को अबतक हिरासत में लिया है। इसमें वार्ड सदस्य अमित भी शामिल है। इसी के जीत के जश्न में शराब की पार्टी चल रह थी। जिसके बाद एक एक कर पांच लोगों की मौत हुई।


सरैया और सकरा में तीन मौत की चर्चा
सरैया में पांच लोगों की मौत के बाद देर रात एक और व्यक्ति की मौत हो गयी। बताया जा रहा है की वह सरकारी कर्मी था। हालांकि, उसके परिजन और पुलिस इस संबंध में पुष्टि नहीं कर रहे हैं। लेकिन, दबे जुबान में चर्चा है की इसका तार भी पांच मौत से जुड़ा हुआ है।

वहीं सकरा के बाजी राउत में अशोक पंडित (38) और टुनटुन पंडित (36) की मौत हो गयी। परिजन दोनों की मौत की वजह बीमारी बता रहे हैं। लेकिन, चर्चा है की दोनों की मौत जहरीली शराब पीने से ही हुई है। इतना ही नहीं पुलिस के पहुंचने से पहले शव का दाह संस्कार करने की कोशिश भी की गई थी। लेकिन, सकरा पुलिस ने दोनों का शव कब्जे में लिया और पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।


इलाके में दहशत का माहौल
सकरा और सरैया इलाके में ग्रामीणों के बीच दहशत का माहौल है। लोग अब शराब को हाथ भी नहीं लगा रहे हैं। अंदर ही अंदर सब डरे हुए हैं। लेकिन, खुलकर अभी भी कोई जहरीली शराब से मौत की बात नहीं बोल रहा है। इधर, जिला पुलिस ने शराब धंधेबाज़ों के खिलाफ कार्रवाई तेज़ कर दी है। शराब माफियाओं कर अड्डे लर ताबड़तोड़ छापेमारी की जा रही है।

INPUT: Bhaskar

Share This Article.....

Leave a Reply

Your email address will not be published.