Muzaffarpur की मिठाई दुकानों में जांच से हड़कंप, 14 दुकानों से 43 नमूने किए गए संग्रह

दीपावली व छठ को लेकर खाद्य सुरक्षा विभाग की ओर से अभियान चलाया जा रहा है। मंगलवार को शहर की 14 दुकानों पर जांच की गई। वहां से मिठाई, खोवा, पनीर, लडडू का 43 नमूना संग्रह किया गया। इस बीच रामबाग-गौशाला रोड में एक दुकान पर फंगस लगा लडडू मिलने पर करीब 50 किलो लडडू को फेंकवा दिया गया। जांच को लेकर हडकंप रहा। खाद्य संरक्षा अधिकारी सुदामा चौधरी ने बताया कि सभी नमूना का पटना प्रयोगशाला भेजा जाएगा।




इस तरह चला अभियान
जानकारी के अनुसार धावा दल रामबाग गौशाला रोड़ स्थित एक मिठाई दुकान पहुंची तो वहां फंगस लगा दाना लडड्डू बेचा जा रहा था। दुकान का लाइसेंस भी खत्म हो गया था। वहीं गंदगी की भरमार थी। यहां बिक रही मिठाई कब बनी और यह कब तक खाने योग्य है, इसका डिस्पले भी नहीं दिखा। जांच दल ने इस दुकान से करीब 50 किलो लडड्डू को फेंकवा दिया। वहीं दुकानदार को नोटिस देकर चेतावनी दी कि दो दिन में ठीक कर लिया जाए, नहीं तो कार्रवाई की जाएगी।


जांच दल में ये रहे शामिल
डीएम प्रणव कुमार की ओर से अमानक खाद्य पदार्थ पर निगरानी के लिए धावा दल का गठन किया गया था। दल में मजिस्ट्रेट के रूप में सहायक निदेशक ब्रज भूषण कुमार, मुशहरी के प्रखंड आपूर्ति अधिकारी संतोष कुमार शामिल रहे। जांच दल ने सरैयागंज, रामबाग रोड, देवी मंदिर रोड और छाता चौक इलाके में अभियान चलाया। अलग-अलग जगह से पनीर, खोवा, छेना , काजू बर्फी, कालाकंद, दाना लडड्डू का नमूना लिया गया।


जल और हरियाली रहेगी सुरक्षित तभी बचेगा जीवन
मुजफ्फरपुर : जल-जीवन-हरियाली जागरूकता अभियान विषय पर जन संपर्क विभाग,पटना ने मंगलवार को वर्चुअल मोड में परिचर्चा का आयोजन किया। समाहरणालय सभा कक्ष में विभिन्न विभागों के अधिकारियों ने उपस्थिति दर्ज की। पीआरडी एवं मुख्यमंत्री के सचिव अनुपम कुमार ने अभियान के बारे में विस्तृत जानकारी उपलब्ध कराई। उन्होंने अभियान के उद्देश्य एवं लाभ की जानकारी साझा की। कहा, जल और हरियाली रहेगी तभी जीवन बचेगा।


संचालन करते हुए उप सचिव संजय कृष्ण ने कहा, जल-जीवन-हरियाली अभियान का उद्देश्य जलवायु परिवर्तन में सुधार करना, पर्यावरण को दूषित होने से बचाना, पशु-पक्षियों का जीवन बचाना और राज्य में अधिक से अधिक हरित आवरण तैयार करना है। पीएचईडी के मुख्य अभियंता अशोक कुमार ने नल के जल के दोहन, पुरानी जल संरचना का संरक्षण, नए जल स्रोतों के निर्माण के संबंध में जानकारी मुहैया कराई। धन्यवाद ज्ञापन सहायक निदेशक सूचना जनसंपर्क विभाग, लाल बाबू ङ्क्षसह ने किया। वहीं जिला स्तर पर कार्यक्रम में जिला जनसंपर्क अधिकारी कमल ङ्क्षसह, जिला कृषि अधिकारी शिलाजीत ङ्क्षसह, कार्यपालक अभियंता पीएचइडी के अलावा स्वास्थ्य विभाग एवं नगर निगम के पदाधिकारी मौजूद थे।

INPUT: JNN

Share This Article.....

Leave a Reply

Your email address will not be published.