Muzaffarpur में Diwali पर नही होगी बिजली की कमी, पटाखों पर रोक के लिए पहल जारी

मुजफ्फरपुर। दीपावली में बिजली की कमी नहीं होगी। ठंड का मौसम होने की वजह से लोगों के घरों में एसी, कूलर, पंखे बंद रहने से भी बिजली की खपत कम हो गई है। इधर बिजली के तार और ग्रिडों पर भी लोड कम हो गया है। सभी डिविजनों में कंट्रोल रूम बनाए गए हैं जहां काल सेंटर पर बिजली कर्मियों की तैनाती की गई है। नार्थ बिहार पावर डिस्ट्रीब्यूशन के अधीक्षण अभियंता रीतेश कुमार के अनुसार दीपावली और छठ में लोगों को भरपूर बिजली मिलेगी। सभी पावर ग्रिडों से सामान्य सप्लाई हो रही। सबसे अधिक एसी चलने पर बिजली की खपत होती है, लेकिन ठंड के मौसम के कारण सभी लोगों ने एसी बंद कर दिया।




रामकृपाल नगर में हाईवोल्टेज से जले इलेक्ट्रानिक उपकरण
बेला-मुशहरी फीडर रात्रि को भगवान भरोसे हो जाता है। सोमवार की शाम बेला रोहुआ रोड के रामकृपाल नगर के समीप स्थित ट्रांसफार्मर का फेज अचानक शार्ट-सर्किट से उड़ गया। इसके कारण मोहल्ले में हाईवोल्टेज हो गया। उपभोक्ता रंजीत ठाकुर का बड़ा नुकसान हो गया। हाईवोल्टेज के कारण उनके घर के कई स्विच बोर्ड जल गए। कई बल्ब उड़ गए। धनतेरस-दीपावली के लिए लगाए गए झालर सहित कई इलेक्ट्रानिक उपकरण जल गए। मुशहरी फीडर का कोई मिस्त्री रात नौ बजे तक सही नहीं किया। बाद में बेला जेई के आदेश पर लाइनमैन द्वारा ठीक किया गया। उसके बाद लोगों ने राहत की सांस ली।


जागरूकता से भी पटाखों के उपयोग को रोकने की पहल
मुजफ्फरपुर के शहरी क्षेत्र में सभी स्थानों पर पटाखों की बिक्री एवं उपयोग पर प्रतिबंधित लगा दिया गया है। इस आदेश का सख्ती से पालन कराने के साथ प्रशासन जन जागरूकता का सहारा लेकर पटाखों के उपयोग को रोकने की पहल की है। इसके लिए एसडीओ पूर्वी ज्ञान प्रकाश ने अनुमंडल परिसर से सोमवार को जागरूकता रथ को रवाना किया। यह रथ शहर के विभिन्न हिस्सों में पटाखों की बिक्री एवं उपयोग पर प्रतिबंध के बारे में प्रचार प्रसार करेगा। एसडीओ पूर्वी ने बताया कि डीएम ने आदेश के अनुपालन को लेकर सख्त निर्देश दिए हैं। शहरी क्षेत्र में पटाखों की बिक्री एवं उपयोग पर पूर्णत: प्रतिबंध रहेगा। इसका अनुपालन नहीं करने वालों पर विधि सम्मत कार्रवाई की जाएगी। इसके साथ ही उन्होंने लोगों से अपील करते हुए कहा कि पटाखा फोडऩे से इसके कई हानिकारक धातुओं से बच्चों एवं बुजुर्गों के स्वास्थ्य पर असर पड़ता है। इसे देखते हुए शहर को स्वच्छ एवं प्रदूषण मुक्त बनाने की दिशा में लोग अपनी भूमिका का निर्वहन करें।


पटाखा मंडी में छापेमारी के डर से बंद रहीं दुकानें
डीएम के आदेश के बाद पटाखा मंडी में अवैध भंडारण करने वालों के बीच हड़कंप मचा हुआ है। सोमवार को छाता बाजार स्थित पटाखा मंडी में पटाखों की दुकानें सुबह में तो खुलीं, लेकिन दोपहर में छापेमारी के डर से सारी दुकानें बंद हो गईं। इस बीच नगर थाने की पुलिस ने काफी देर तक वहां कैंप की। कुछ पटाखा व्यवसायी को मालूम था कि टाउन डीएसपी के नेतृत्व में छापेमारी होने वाली है। इसे लेकर सारे लोगों ने दुकानें बंद कर ली। पुलिस के इधर-उधर हटने पर शटर के अंदर बंद कर ग्राहकों और खुदरा व्यापारियों को सामान दिया गया। बता दें कि एनजीटी के आदेश के बाद प्रतिबंधित पटाखों पर पूरी तरह रोक लगी हुई है। पटाखा कारोबार से जुड़े व्यापारियों का कहना है कि अधिक आवाज और धुआं देने वाले मसाले को हटाकर ग्रीन पटाखा बनाया गया है। अवैध पटाखा किसी के पास नहीं है।  

INPUT: JNN

Share This Article.....

Leave a Reply

Your email address will not be published.