Muzaffarpur में ‘मजाक’ साबित हुई NGT की पाबंदी, पटाखों के शोर में गुम हुआ मनाही का आदेश

मुजफ्फरपुर। नेशनल ग्रीन ट्रिब्युनल के आदेश के आलोक में लगी पटाखों पर पाबंदी रस्मी साबित हुई। शहर के हर हिस्से में पटाखों की बिक्री जारी है। मंगलवार को रस्म अदायगी के तौर पर जागरुकता के लिए एसडीओ कार्यालय से वाहन भी रवाना किया गया, लेकिन इसका कोई असर इसकी बिक्री पर नहीं पड़ा है। हालांकि यह भी सच है कि अभी तक एक भी पटाखा दुकान में न तो छापेमारी हुई है और न ही कोई कार्रवाई हुई है।




नेशनल ग्रीन ट्रिब्युनल के आदेश पर शहरी क्षेत्र में पटाखे की बिक्री पर लगी रोक हवा हवाई साबित हुई। डीएम प्रणव कुमार ने एसडीओ को पटाखे पर रोक की जिम्मेवारी सौंपी, लेकिन आदेश निकलने के तीसरे दिन भी पटाखे की बिक्री जारी है। सरैयागंज निवासी मनोज साह ने बताया कि प्रशासनिक आदेश निकलने के बाद अंतर सिर्फ इतना आया है कि पटाखों की कीमत बढ़ गई है। पटाखों के कारोबारी पटाखा सजाकर उसकी बिक्री कर रहे हैं और पूछने पर बताते हैं कि यह ग्रीन पटाखा है। हालांकि जिला प्रशासन ने शहरी क्षेत्र में किसी भी तरह के पटाखों की बिक्री व उपयोग पर प्रतिबंध लगया है।


इस मामले में एसडओ पूर्वी ज्ञान प्रकाश ने बताया कि वे मामले को देख रहे हैं। संबंधित थानों को निर्देश दिया गया है कि पटाखों की बिक्री पर रोक लगाते हुए कार्रवाई करें।

INPUT: Hindustan

Share This Article.....

Leave a Reply

Your email address will not be published.