मुजफ्फरपुर में गजब का फर्जीवाड़ा, जिंदा लोगों के Corona से मौत का सर्टिफिकेट बना अनुदान राशि का आवंटन, यूं हुआ खुलासा

कोरोनावायरस के संक्रमण से मरने वालों के आश्रितों को राज्य सरकार द्वारा दिए जा रहे 4लाख की अनुग्रह राशि में बड़ा फर्जीवाड़ा सामने आया है। मुजफ्फरपुर में घपलेबाजों द्वारा जिंदा लोगों का डेथ सर्टिफिकेट बनवा कर उनके नाम पर अनुदान का आवंटन मंगवा लिया गया है। भुगतान से पहले भौतिक सत्यापन में इसका खुलासा हुआ है। मामला उजागर होने के बाद आपदा प्रबंधन कार्यालय से लेकर जिला स्वास्थ समिति और एसकेएमसीएच में हड़कंप मच गया है।




एसकेएमसीएच से जुड़े हैं ताजा मामले
कोरोना से मौत में फर्जीवाड़े के ये मामले एसकेएमसीएच से जुड़े हैं। इस फर्जीवाड़े में कोरोना संक्रमण के बाद स्वास्थ्य हो चुके पीड़ितों का अस्पताल से बीएचटी प्राप्त कर लिया गया और उनका डेथ सर्टिफिकेट बनवा लिया गया। जिला स्तरीय कमेटी ने इसके आधार पर अनुदान की सिफारिश कर दी और उनके नाम से जिले को आवंटन भी मिल गया। राशि भुगतान से पहले आपदा प्रबंधन कार्यालय ने सीओ के माध्यम से जब इसका भौतिक सत्यापन कराया तो पता चला कि फाइलों में मर चुके ये लोग जिंदा है। जिले में कोरोना से 805 मृतकों के आश्रितों के लिए अनुदान के अनुशंसा की गई है जिसमें 563 के लिए राशि का आवंटन प्राप्त हो चुका है।

INPUT: Hindustan

Share This Article.....

Leave a Reply

Your email address will not be published.