लाठी खाकर ट्रेन में हुए सवार, कंफर्म सीट होने पर भी खड़े होकर करनी पड़ी यात्रा

मुजफ्फरपुर। छठ को लेकर दिल्ली समेत अन्य शहरों से आने वाली पूजा स्पेशल ट्रेनों में सफर करना प्रवासियों के लिए किसी चुनौती से कम नहीं है। पूजा स्पेशल ट्रेनों में अत्यधिक भीड़ के कारण अधिकांश को सीट व बर्थ नहीं मिल पा रही है। जिन्हें कंफर्म सीट मिल रही है, उन्हें भी ट्रेन के दरवाजे पर खड़े होकर यात्रा करनी पड़ रही है। ट्रेन में सवार होने से लेकर उतरने में यात्रियों की सांस अटकने लगती है।




दिल्ली से सहरसा जाने वाली पूजा स्पेशल जनसाधारण ट्रेन शनिवार की दोपहर डेढ़ बजे मुजफ्फरपुर जंक्शन पहुंची। कुछ ही पलों में प्लेटफॉर्म एक यात्रियों की भीड़ से पट गई। ट्रेन से उतरे सीतामढ़ी के रुन्नीसैदपुर निवासी सूर्यकांत कुमार व उसके साथियों ने बताया कि ट्रेन में सवार होने के दौरान पुलिस की लाठियों का सामना करना पड़ा। कंफर्म सीट होने के बावजूद ट्रेन के दरवाजे के पास खड़े होकर यात्रा करनी पड़ी। तमाम बोगियां खचाखच भरी होने के कारण फर्श पर ठीक से बैठने के लिए जगह नहीं मिल सकी।


ढोली के विकास सहनी ने बताया कि ट्रेन आने से पूर्व दिल्ली स्टेशन यात्रियों की भीड़ से पट चुकी थी। लाठी चलने के कारण ट्रेन में सवार होने में थोड़ा विलंब हो गया। इस कारण उसकी सीट पर अन्य यात्रियों ने कब्जा जमा लिया। भीड़ के कारण सीट के पास नहीं पहुंच सका। औराई के दिलीप साह ने बताया कि अधिक भीड़ के कारण खाना नहीं खा सका। खाना होने के बावजूद भूखे यात्रा करनी पड़ी। ट्रेन से उतरने के बाद राहत मिली।


स्पेशल ट्रेन का महज दो मिनट ठहराव
विभिन्न स्टेशनों पर स्पेशल ट्रेन का महज दो मिनट ठहराव दिए जाने से यात्रियों को काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ा। दिल्ली से सहरसा जाने वाली पूजा स्टेशन ट्रेन का ठहराव मुजफ्फरपुर, हाजीपुर, समस्तीपुर व बेगूसराय समेत अधिकांश स्टेशनों पर महज दो मिनट ठहराव दिया गया है। इन स्टेशनों पर सभी नियमित ट्रेनों का न्यूनतम पांच मिनट के लिए ठहराव है। भीड़ के बीच दो मिनट में ट्रेन से उतरना व सवार होने में कई यात्री चोटिल हो जाते हैं।

INPUT: Hindustan

Share This Article.....

Leave a Reply

Your email address will not be published.