Muzaffarpur में शादी की खरीददारी कर लौट रही युवती की हत्या, भाई गंभीर रूप से घायल

शादी की खरीदारी कर पटना से लौट रहे भाई-बहन पर तुर्की ओपी के चढुआ-बसौली रोड में हमला कर दिया। लूटपाट के दौरान रॉड से मारकर युवती की हत्या कर दी गई जबकि हमले में उसका भाई गंभीर रूप से घायल हो गया। युवती की इसी माह 28 नवंबर को शादी तय थी। घटना शनिवार रात करीब 10 बजे की बतायी गई है। युवती सरमस्ता गांव की थी।




परिजनों ने घटना के संबंध में थाने में एफआईआर दर्ज नहीं कराई है। परिजन व ग्रामीणों का कहना है कि केस दर्ज कराने के बाद पुलिस लुटेरों को पकड़ नहीं पाएगी। बेटी तो चली गई। अब केस कराने पर शव का पोस्टमार्टम कराना होगा। घटना में घायल भाई एक बाइक एजेंसी में काम करता है। रविवार को मृतका के जनाजे को सपुर्दे खाक कर दिया गया। तुर्की ओपी प्रभारी राम विनय सिंह ने बताया कि परिजनों ने घटना की जानकारी नहीं दी है। ग्रामीणों से जानकारी मिली है। इसकी जांच की जाएगी।


इधर, ग्रामीणों ने बताया कि मृतका की शादी को लेकर सारी तैयारी लगभग पूरी हो चुकी थी। वह शनिवार को शादी की शेष खरीदारी के लिए भाई के साथ पटना गई थी। पटना से बस से लौटने में जाम के कारण लेट हो गया। रात 10 बजे दोनों भाई-बहन तुर्की पहुंचे। बस से उतरकर तुर्की में पहले से खड़ी अपनी बाइक से दोनों घर लौट रहे थे। युवती के भाई ने बताया है कि बसौली से पहले पुल के पास बाइक की लाइट पर एक युवक को हाथ में रॉड लेकर खड़ा देखा। लगा कि कोई मछली पकड़ने वाला होगा। उसके बगल में जैसे ही बाइक पहुंची, युवक ने रॉड से वार कर दिया। उसके हेलमेट पर रॉड लगने के बाद पीछे बैठी बहन के सिर में लगी। वह चींखते हुए बाइक से गिरने लगी। इसपर उसने बाइक रोकी, तब तक पुल के नीचे से दो और अपराधी आए। तीनों मिलकर बेरहमी से रॉड से मारने लगे। बहन सड़क पर गिरकर बेहोश हो चुकी थी। अपनी जान बचाने के लिए भाई दौड़कर शोर मचाते हुए चढ़ुआ की ओर भागा। इस बीच अपराधियों ने युवती के बैग से नगद 60 हजार रुपये, कीमती सामान आदि लूटकर भाग निकले।


हेलमेट के कारण भाई की बची जान
शोर पर जुटे चढ़ुआं के ग्रामीणों के साथ भाई फिर से घटनास्थल पर पहुंचा तो बहन खून से लथपथ सड़क पड़ी थी। मोबाइल से घर पर कॉल किया तो परिजन व पड़ोसी बड़ी संख्या में पहुंचे। बेहोश युवती को ब्रह्मपुरा स्थित एक निजी अस्पताल लाया गया जहां चिकित्सकों ने उसे मृत बता दिया। हेलमेट के कारण भाई के सिर में जख्म नहीं लगा लेकिन उसके शरीर पर चोट के निशान हैं।


घटना की जानकारी परिजन की ओर से पुलिस को नहीं दी गई है। तुर्की ओपी प्रभारी को चौकीदार के माध्यम से जांच कराने को कहा गया है। इसके बाद आगे की कार्रवाई होगी। -अभिषेक आनंद, डीएसपी पश्चिमी

INPUT: Hindustan

Share This Article.....

Leave a Reply

Your email address will not be published.