Muzaffarpur के इस शख्स के खाते में अचानक आए 52 करोड़ रुपए, वृद्धापेंशन चेक करवाने पहुंचा था CSP

बिहार से एक बार फिर अचानक एक शख्स के बैंक खाते में मोटी रकम आने की खबर सामने आई है. पहले खगड़िया, फिर कटिहार और अब मुजफ्फरपुर से आई इस खबर ने लोगों को हैरान कर दिया है. एक बुजुर्ग शख्स के बैंक खाते में अचानक 52 करोड़ आने से लोग अचंभे में पड़ गए. आइए जानते हैं पूरा मामला..




दरअसल, ये मामला मुजफ्फरपुर जिले के कटरा थाना क्षेत्र का है. जहां रामबहादुर शाह अपनी वृद्धा पेंशन की राशि चेक करवाने के लिए एक सीएसपी संचालक के पास गये थे. लेकिन जैसे ही खाता चेक करवाने के लिए उन्होंने अंगूठा लगाया तो सीएसपी संचालक चौंक गया, क्योंकि बुजुर्ग रामबहादुर के खाते में 52 करोड़ से अधिक रुपये थे. देखते ही देखते ही ये बात जंगल में आग की तरह फैल गई.


जब इस मामले की जानकारी लेने के लिए घटनास्थल पर मीडियाकर्मी पहुंचे तो रामबहादुर ने बताया कि वो वृद्धा पेंशन को लेकर नजदीकी सीएसपी संचालक के पास गया था. जहां सीएसपी संचालक ने बताया कि मेरे खाते में 52 करोड़ रुपये से अधिक आ चुके हैं. ये सुनकर सब हैरान हो गए कि आखिर इतनी बड़ी रकम कहां से आई.

बुजुर्ग ने कहा कि हम खेती-किसानी करके जीवन यापन करते हैं. सरकार से यही मांग करेंगे कि उस राशि से कुछ हमें भी मुहैया करा दिया जाए, जिससे हमारा बुढ़ापा गुजर जाए. वहीं इस मामले पर उनके बेटे सुजीत का कहना है कि हमारे पिताजी के खाते में 52 करोड़ से अधिक रुपये आ गए. जिसको लेकर हम लोग काफी परेशान हैं. हम किसान हैं, गरीब परिवार से हैं, सरकार द्वारा मदद की जाए.


वहीं मामले की जानकारी पर कटरा थाने के सब इंस्पेक्टर मनोज पांडे का कहना है कि स्थानीय लोग और मीडिया के माध्यम से हमें ये जानकारी मिली है. सिंगारी के एक व्यक्ति के खाते में 52 करोड़ से अधिक राशि आ गई है. मामले में बड़े अधिकारियों का जो भी आदेश होगा उसका हम पालन करेंगे. फिलहाल जांच जारी है.


गौरतलब है कि इससे पहले कटिहार (Katihar) में दो स्कूली छात्रों के बैंक अकाउंट में 960 करोड़ रुपये आने की खबर फैलने से लोग अचंभे में पड़ गए थे. हालांकि, बैंक की ओर बाद में इस खबर को तकनीकी खराबी बताया गया. वहीं खगड़िया (Khagaria) में एक शख्स के खाते में गलती से 5.50 लाख रुपए आ गए थे.

INPUT: Aajtak

Share This Article.....

Leave a Reply

Your email address will not be published.