Muzaffarpur नगर निगम में जोड़ तोड़ की राजनीति चरम पर, 27 नवंबर को होना है महापौर का चुनाव

मुजफ्फरपुर। मुजफ्फरपुर नगर निगम के महापौर के रिक्त पद के चुनाव को लेकर राजनीति तेज हो गई है। पद के दोनों दावेदार वार्ड 46 के पार्षद नंद कुमार प्रसाद साह एवं वार्ड तीन के पार्षद राकेश कुमार के बीच पार्षदों को अपने पक्ष में करने का अभियान तेज हो गया है। चुनाव 27 नवंबर को होना है। इसकी अधिसूचना जारी हो चुकी है। अधिसूचना जारी होने के बाद निगम दो खेमे में बंट गया है।




राकेश कुमार को जहां उप महापौर मारमर्दन शुक्ला एवं नगर विधायक बिजेंद्र चौधरी का समर्थन मिल रहा है। दोनों के समर्थक पार्षद राकेश कुमार के साथ है। वहीं, नंद कुमार प्रसाद साह के साथ पूर्व महापौर सुरेश कुमार एवं पूर्व मंत्री सुरेश कुमार का समर्थन है। राकेश कुमार के खेमा ने ही पूर्व महापौर सुरेश कुमार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाया था। उनको हटाने में 34 पार्षदों ने वोट किया था। ऐसे में फिलहाल राकेश कुमार का पक्ष मजबूत लग रहा है। लेकिन नंद कुमार प्रसाद साह उनको कड़ी चुनौती देते नजर आ रहे है। अविश्वास प्रस्ताव में राकेश कुमार का साथ देने वाले कई पार्षद अभी नंद कुमार प्रसाद के साथ दिख रहे है। ऐसे में दोनों उम्मीदवारों के बीच काटे का मुकाबला होने वाला है।


एक दूसरे के खेमे में सेंधमारी की तैयारी चल रही
दोनों खेमा अपने अपने-अपने समर्थक पार्षदों का संख्या बल बढ़ाने के लिए एक-दूसरे के खेमे में सेंधमारी में लगा है। इसके लिए न सिर्फ पार्षदों के घर का दरवाजा खटखटाया जा रहा है बल्कि उनको बड़े नेताओं की मदद से खेमा बदलने के लिए दवाब डाला जा रहा है। दूसरी ओर दोनों खेमा अपने-अपने समर्थक पार्षदों को बचाने में लगा है। मिल रही जानकारी के अनुसार दोनों खेमा अपने समर्थक पार्षदों को अज्ञातवास पर ले जाने की तैयारी में लगा है ताकि उनका मन नहीं बदला जा सके।

INPUT: JNN

Share This Article.....

Leave a Reply

Your email address will not be published.