मुजफ्फरपुर रेलवे जंक्शन पर कोरोना मरीज मिलने के बाद भी जांच में लापरवाही, महज 10 से 15 प्रतिशत यात्रियों की ही हो रही जांच

मुजफ्फरपुर। स्थानीय जंक्शन पर एक दिन पहले एक यात्री के कोरोना संक्रमित पाए जाने के बाद भी जांच में लापरवाही बरती जा रही है। दूसरे प्रदेश से पहुंचने वाले यात्रियों में से 10 से 15 प्रतिशत यात्रियों की ही कोरोना जांच की जा रही है। जंक्शन पर स्वास्थ्य विभाग की पांच टीमें जांच के लिए तैनात की गई हैं। वहीं कोरोना से बचाव को लेकर भी जंक्शन पर शिविर लग रहा है। ट्रेन से उतरने के बाद जांच टीम के सदस्य यात्रियों को रोकने की कोशिश भी करते हैं तो अधिकतर यात्रि जांच से पीछा छुड़ाकर बाहर निकल जाते हैं। सोमवार को दोपहर में हजारों की संख्या में यात्रियों का हुजूम जंक्शन से बाहर निकला।




स्वास्थ्य कर्मियों के आग्रह करने पर इक्का-दुक्का यात्री ही जांच के लिए रुके। जंक्शन पर दिल्ली से पहुंचे राजू पासवान ने कहा कि दिल्ली में ट्रेन पर चढऩे से पूर्व भी कोरोना जांच की गई थी। यहां फिर से जांच कराने को कहा जा रहा था इस कारण बाहर निकल गए। कुछ यात्रियों ने कहा कि जांच कर गलत रिपोर्ट दे दिया जाता है। इस कारण जांच नहीं करा रहे हैं। सिविल सर्जन विनय कुमार शर्मा ने कहा कि जंक्शन पर मेडिकल की कई टीमें कोरोना टीकाकरण और जांच के लिए तैनात हैं। बाहर से आने वाले यात्रियों की जांच की जा रही है।


स्कूलों में शिक्षक और विद्यार्थी दोनों बिना मास्क के
मुजफ्फरपुर। सरकारी स्कूलों में कोरोना से बचाव को लेकर पूरी तरह लापरवाही बरती जा रही है। विद्यार्थी को कौन कहे शिक्षक भी बिना मास्क के स्कूल पहुंच रहे हैं। सोमवार को दैनिक जागरण की ओर से स्कूलों की पड़ताल की गई। इस दौरान दामुचौक स्थित मध्य विद्यालय अमर शिक्षालय होम फार होमलेस में करीब डेढ़ सौ छात्र-छात्राएं मौजूद थे। किसी ने भी मास्क नहीं पहना था। मौके पर मौजूद चार शिक्षक भी मास्क नहीं पहने थे। प्रधानाध्यापक संजय तिवारी छुट्टी पर थे। वहीं राजकीय मध्य विद्यालय मझौलिया में भोजनावकाश था। ब’िचयां बाहर में बिना मास्क के ही समूह में टहल रहीं थीं। कार्यालय में तीन शिक्षक थे उन्होंने मास्क पहना था। मझौलिया रोड स्थित सराय सैयद अली बालिका उ’च विद्यालय में परीक्षा चल रही थीं। यहां भी छात्राओं और शिक्षकों ने मास्क नहीं पहना था। प्रधानाध्यापक सुनंदा कुमारी ने कहा कि छात्राओं को मास्क लगाकर आने को कहा गया है।


बाजार में भी हो रही लापरवाही, पड़ सकती भारी
कोरोना से बचाव को लेकर बाजार में लोग लापरवाह दिख रहे हैं। शादी की खरीदारी और समारोहों में सैकड़ों की संख्या में लोग जुट रहे हैं। लोग मास्क नहीं लगा रहे हैं न कहीं शारीरिक दूरी का पालन हो रहा है। प्रशासन की ओर से भी इस दिशा में सख्ती नहीं बरती जा रही है। ऐसे में कोरोना के मरीज मिले तो स्थिति अनियंत्रित हो सकती है।

INPUT: JNN

Share This Article.....

Leave a Reply

Your email address will not be published.