Muzaffarpur में सब्जी विक्रेता की संदिग्ध मौत, मुआवजे के लिए परिजनों का सड़क जाम कर हंगामा

मुजफ्फरपुर के सिकंदरपुर कुंडल के सब्जी विक्रेता विनोद सहनी (48) की संदिग्ध परिस्थिति में मौत हो गयी। आक्रोशित परिजन ने अहियापुर के दादर में सड़क जाम कर बवाल करना शुरू कर दिया। परिजन का आरोप है कि कोरोना वैक्सीन लेने के कारण उसकी मौत हुई है। प्रशासन इसका उचित मुआवजा दे। अन्यथा सड़क जाम नहीं हटाया जाएगा। पुलिस प्रशासन के खिलाफ आक्रोशितों ने जमकर हंगामा और प्रदर्शन करना शुरू कर दिया।




सूचना मिलने पर अहियापुर थानेदार विजय कुमार मौके पर पहुँचे। उग्र लोगों को समझाने का प्रयास क़िया। लेकिन, कोई सुनने को तैयार नहीं है। थानेदार ने कहा कि पोस्टमार्टम करवा लेने दीजिये। इससे स्पष्ट हो जाएगा कि मौत कैसे हुई है। लेकिन, कोई भी थानेदार की बात सुनने के लिए तैयार नहीं हुआ। मृतक के परिजन रविन्द्र ने बताया कि गुरुवार को वार्ड 12 के पार्षद शहनाज बेगम के दरवाजे पर कोरोना वैक्सीन दिया जा रहा था। विनोद सेकंड डोज लेने चला गया था। वैक्सीन लेने के बाद वह घर आ गया।


एक घण्टे बाद बिगड़ने लगी तबियत
वैक्सीन लेने के एक घंटे बाद उसकी तबियत अचानक से बिगड़ने लगी। वह बेचैन होकर तड़पने लगा। आननफानन में उसे हॉस्पिटल लेकर गए। जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। रात भर इधर उधर भटकते रहे। इसके बाद पुलिस को भी सूचना दी। लेकिन, किसी ने कोई कार्रवाई नहीं की। इससे लोगों का आक्रोश भड़क उठा और सड़क जाम करने पर विवश हो गए।


सब्जी बेचकर करता था जीवन यापन
मृतक के बेटे गोविंद ने बताया कि उसके पिता सब्जी बेचकर घर चलाते थे। उनकी मौत से पूरा परिवार बिखर गया है। इसलिए उनलोगों को उचित मुआवजा मिलना चाहिए। अगर मुआवजा नहीं मिला तो वे लोग जाम नहीं समाप्त करेंगे। फिलहाल पुलिस सभी को समझाकर शांत कराने के प्रयास में जुटी हुई है। इधर, अहियापुर का पूरा इलाका भीषण जाम की चपेट में आ गया। वाहनों की लंबी कतार लगी हुई है। आवागमन पूरी तरह से ठप हो गया।

INPUT: Bhaskar

Share This Article.....

Leave a Reply

Your email address will not be published.