Muzaffarpur में Mukesh Ambani की फर्जी ID से हुआ Cyber फ्रॉड, जानिए चौंकाने वाला मामला

मुजफ्फरपुर। वृद्धाश्रम खोलने के नाम पर 70 लाख रुपये सहायता देने का झांसा देकर एफसीआइ कर्मी रजनीश कुमार से साइबर फ्राड ने 52, 500 रुपये ठग लिया। यह ठगी मुकेश अंबानी की फर्जी फेसबुक आइडी के माध्यम से की गई।




इस संबंध में एफसीआइ कर्मी ने सदर थाना में प्राथमिकी दर्ज कराई है। सदर थानाध्यक्ष सत्येंद्र कुमार मिश्र ने बताया कि इंटरनेट मीडिया पर चल रहे भ्रामक मैसेज की पड़ताल नहीं करने के कारण यह ठगी हुई है। इस मामले में प्राथमिकी दर्ज कर जांच की जा रही है।

यह है मामला
रजनीश कुमार ने पुलिस को बताया कि वह नारायणपुर अनंत स्थित भारतीय खाद्य निगम के खाद्य संग्रह भंडार में कर्मचारी है। उन्हें कथित मुकेश अंबानी के फेसबुक आइडी से ईशा वृद्धाश्रम खोलने के लिए 70 लाख रुपये का प्रलोभन दिया गया। पहले वे तैयार नहीं हुए, लेकिन बाद में वे मान गए। इसके बाद फेसबुक एकाउंट के माध्यम से अपने लेखा पदाधिकारी का वाट्सएप नंबर दिया गया।


साइबर फ्राड ने 70 लाख रुपये उसके बैंक खाता में प्रोसेस कर दिए जाने का झांसा दिया। उससे कहा गया कि इसके लिए उन्हें 52,500 रुपये प्रोसेस शुल्क का भुगतान करने को कहा। झांसा में आकर उन्होंने इसका आनलाइन भुगतान कर दिया। इसके बाद उन्हें टैक्स के रूप में छह लाख भुगतान करने को कहा गया। इसके बाद उन्हें ठगी का अहसास हुआ। उन्होंने इतनी राशि देने से इन्कार किया और 52, 500 रुपये लौटाने को कहा, लेकिन उसे यह रुपये नहीं लौटाए गए।


चोरी गई पिकअप वैन बरामद
साहेबगंज। थाना पुलिस ने मुजफ्फरपुर स्थित एक गैरेज से चोरी की पिकअप बरामद की। एएसआइ शिवनंदन भगत ने बताया कि बरामद पिकअप मकड़ी टोला गांव से पिछले दिनों चोरी हो गई थी। इस मामले में वाहन मालिक ने थाने में चोरी की प्राथमिकी दर्ज कराई थी। शनिवार को गुप्त सूचना मिली कि मकड़ी टोला से चोरी की गई पिकअप मुजफ्फरपुर के गैरेज में खड़ी है। पुलिस पिकअप को जब्त कर थाने ले आई। वहीं आरोपित के ठिकाने पर छापेमारी की, लेकिन वह फरार मिला।

INPUT: JNN

Share This Article.....

Leave a Reply

Your email address will not be published.