Muzaffarpur प्रशासन का अतिक्रमण हटाओ अभियान बेअसर, जिन सड़को पर चला अभियान वहां फिर सज गई दुकान

16 नवंबर से शहर में सख्ती के साथ प्रशासन द्वारा अतिक्रमण हटाओ अभियान चलाया जा रहा है। लेकिन, अतिक्रमणकारियों पर सारी सख्ती बेअसर है। चंद घटों के लिए सड़क पर से अतिक्रमण हट पा रहा है। प्रशासनिक टीम के जाते ही अतिक्रमणकारी फिर से दुकानें सजा लेते हैं। जिससे सड़कों पर फिर पहले जैसी स्थिति बन जाती है।




अबतक दस दिनों में प्रशासन ने शहर के इमलीचट्टी बस पड़ाव से जूरनछपरा चाैक हाेते हुए कंपनीबाग माेड़ से टावर चाैक, तिलक मैदान राेड, जवाहरलाल राेड, टावर से अखाड़ाघाट पुल तक, मगाेला पुल से अघाेरियाबाजार चाैक हाेते हुए रामदयालु नगर कॉलेज चाैक तथा हरिसभा चाैक से पानी टंकी चाैक तक सड़क के दाेनाें किनारे से अतिक्रमण हटाया है।

लेकिन, अतिक्रमण हटाने के बाद कुछ ही घंटे बाद इन सड़कों पर फिर से अस्थायी दुकानें लगाकर अतिक्रमण कर लिया जाता है। इस कारण खासकर जूरनछपरा माेड़ से कंपनीबाग स्थित सूतापट्टी माेड़ तक और सिकंदरपुर माेड़ से अखाड़ाघाट पुल तक प्रशासन को बार-बार अतिक्रमण हटाना पड़ रहा है।


नाे पार्किंग जाेन में लगातार अतिक्रमण हाेने से निगम परेशान
खासकर नाे पार्किंग जाेन में लगातार अतिक्रमण हाेने से परेशान निगम की टीम अबतक चार बार अभियान चला चुकी है। सिटी मैनेजर ओम प्रकाश ने बताया कि शुक्रवार काे भी फिर से अतिक्रमण किए जाने की सूचना के बाद शाम में नाे पार्किंग जाेन में टीम ने ठेला हटाने के लिए विशेष अभियान चलाया। शुक्रवार काे नगर निगम ने अतिक्रमण हटाए गए स्थानों पर फिर से माइकिंग कराकर दुकानदारों को चेताया। सिटी मैनेजर अाेम प्रकाश ने बताया कि शुक्रवार काे पंचायत चुनाव की मतगणना के कारण विशेष अभियान नहीं चलाया गया।


फिर से अतिक्रमण करने वालाें का सामान जब्त कर अब दर्ज होगी एफआईआर
एसडीओ पूर्वी ज्ञान प्रकाश ने बताया कि अतिक्रमण हटाओ अभियान चलाने के बाद भी फिर से दुकान लगाने वालाें पर अब प्रशासन की ओर से कठाेर कार्रवाई की जाएगी। फिर से अतिक्रमण करने वालाें काे चिह्नित करते हुए दुकानदारों का सामान जब्त किया जाएगा। इसके साथ ही अतिक्रमण करने वालाें पर प्राथमिकी भी दर्ज की जाएगी। अबतक कुछ दुकानदारों के सामान व ठेला जब्त किए गए हैं।


इसके अलावा अखाड़ाघाट में सड़क किनारे वाहनों की पार्किंग करने के लिए निगम द्वारा बाेर्ड लगाने के साथ ही उसका टेंडर भी किया जाएगा। संबंधित क्षेत्र के थानाप्रभारियाें काे भी अपने क्षेत्र में फिर से अतिक्रमण नहीं करने देने का निर्देश दिया गया है। कहीं भी विधि व्यवस्था की समस्या उत्पन्न हाेने पर उस थानाक्षेत्र के लिए अतिरिक्त 10 दंडाधिकारियों की प्रतिनियुक्ति की गई है। वहीं, नगर डीएसपी रामनरेश पासवान ने बताया कि अभियान चलाने के बाद फिर से अतिक्रमण करने वालाें काे चिह्नित किया जा रहा है। इनका सामान जब्त कर उन पर प्राथमिकी दर्ज की जाएगी।

INPUT: Bhaskar

Share This Article.....

Leave a Reply

Your email address will not be published.