कुहासे से खतरनाक हुआ NH 28 पर सफर, शहर से सटे है 10 Danger जोन

राष्ट्रीय राजमार्ग अतिक्रमण से पटा है। सर्विस लेन के साथ मेन लेन पर भी वाहन चालकों का कब्जा है। गैरेज संचालकों का दबंगई है। अब जब ठंड बढ़ी है और कुहासे का प्रकोप भी बढ़ने लगा है, एनएच पर सफर खतरनाक हो गया है।

शहर से सटे रामदयालुनगर से लेकर सदातपुर मोड़ तक का सफर अधिक जानलेवा हो गया है। 10 से अधिक डेंजर जोन बन गये हैं। अगर प्रशासन समय रहते सचेत होकर खतरों को टालने का प्रबंध नहीं किया तो हादसों की फेहरिश्त लंबी होगी।




इन डेंजर प्वाइंट और जोन में चौकसी को लेकर कोई इंतजमात नहीं है। पुलिस की तैनाती भी नहीं है। वाहन की रफ्तार पर भी नियंत्रण नहीं है। इससे हादसे लगातार हो रहे हैं। हर साल तकरीबन 300 से 400 के बीच लोग सड़क हादसे में एनएच पर दम तोड़ रहे हैं। जिला प्रशासन बीते पांच साल से लगातार अभियान चलाने का कोरम पूरा कर रहा है लेकिन एनएच से अतिक्रमण नहीं हटा। वाहन चालक, मालिक और गैरेज संचालकों के बीच उनकी कार्रवाई बौनी बनी रही। इधर अतिक्रमण हटाते उधर फिर एनएच पर कब्जा हो जाता।


इधर, एसएसपी ने कहा कि हादसा और वाहनों की गति को नियंत्रित करने को लेकर थानेदारों को विशेष चेक पोस्ट व बैरियर लगाने का निर्देश दिया गया है। जगह-जगह जांच करने का भी स्थानीय पुलिस को निर्देश दिये गये हैं। ताकि, वाहन की जांच भी हो और स्पीड भी नियंत्रित रहे।


चांदनी चौक और सदातपुर मोड़ सर्वाधिक खतरनाक:
बाइक सवार कांटी के मनोज कुमार मिश्रा ने बताया कि वह शहर की दुकान में काम करते हैं। रात में शहर से घर कांटी लौटते हैं। चांदनी चौक और सदातपुर मोड़ सर्वाधिक खतरनाक है। यह तीनमुहाना है। इससे टर्निंग से आने वाली गाड़ियां दिखती नहीं है। सर्विस लेन और मेन लेन में ट्रक व बसें लगीं होती हैं। कुहासे की वजह से गाड़ियां दिखती नहीं है और हादसा हो जाता है। इसे रोकने के लिए वाहनों को अतिक्रमण हटाने की आवश्यकता है।


भगवानपुर से चांदनी चौक तक पंप और गैरेज संचालकों का कब्जा :
शांति विहार कॉलोनी के प्रमोद कुमार ओझा ने बताया कि बीते कुछ माह से भगवानपुर से चांदनी चौक के बीच एनएच-28 जाम रहता है। एनएच के दोनों सर्विस लेन पर पेट्रोल पंप, गैरेज संचालकों और कार एजेंसियों का कब्जा हो गया है। ठंड के साथ कुहसा भी लगाना शुरू हो गया है। रात में सर्विस लेन से आने पर हादसे की आशंका बनी रहती है।


सदर थाना के जब्त वाहनों से भी है सर्विस लेन जाम :
दुकानदारों, एजेंसी और गैरेज संचालकों के अलावा एनएच 28 पर सदर थाना की पुलिस द्वारा जब्त गाड़ियों से भी सर्विस लेन जाम है। रात में कुहासा की वजह से दृश्यता कम होती है। ऐसे में ये जब्त गाड़ियां भी हादसे को दावत दे रही हैं। बीते सप्ताह इन गाड़ियों को शिफ्ट करने का भी निर्देश थानेदार को दिया गया था। लेकिन, इस पर गंभीरता से अमल नहीं किया गया।

यह है 10 डेंजर जोन :
रामदयालु नगर गुमटी, भिखनुपरा तीनमुहाना, मझौलिया, खबड़ा मंदिर, गोबरसही मोड़, बीबीगंज ओवरब्रिज, चांदनी चौक, सदातपुर गुमटी, सदातपुर मोड़, शनि मंदिर चौक

जिले में सड़क हादसों में मौत :
2017 – 337
2018 – 395
2019 – 284
2020 – 431
2021 – 364 (अबतक)

बोले अधिकारी :
हादसा रोकने को लेकर वाहनों में रिफ्लेक्टर लगाने का निर्देश दिया गया है। रिफ्लेक्टर से वाहन की दृश्यता अधिक होती है। स्पीड को नियंत्रण में कर वाहन चलाने का भी निर्देश दिया गया है। अतिक्रमण को लेकर जिला मुख्यालय से निर्देश मिलने पर कार्रवाई की जाएगी। परिवहन विभाग वाहनों का चालान आदि कर जुर्माना वसूल रहा है।
-रंजीत कुमार, एमवीआई

INPUT: Hindustan

Share This Article.....

Leave a Reply

Your email address will not be published.