Muzaffarpur में महज कागजों पर सिमटा One-Way, हर दिन ट्रैफिक जाम से जूंझ रहे शहरवासी

मुजफ्फरपुर। शहर के विभिन्न इलाकों में चौतरफा भीषण ट्रैफिक जाम की समस्या बनी रही। हाईवे पर भी कई जगहों पर ट्रैफिक जाम से वाहनों की कतार लगी रही। जाम के कारण लोगों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा, मगर इसके निदान की दिशा में रणनीति नहीं तैयार की जा रही।




दूसरी ओर पुलिस अधिकारियों की तरफ से जवानों की कमी बताकर अपना पल्ला झाड़ लिया जा रहा। बताया गया कि शहर में 50 से अधिक ट्रैफिक पोस्ट हैं। पहले 150 जवान ट्रैफिक में तैनात थे।

इन दिनों 60 से 80 जवानों से काम चलाया जा रहा। इसमें भी हर सप्ताह पंचायत चुनाव में आधे से अधिक जवानों की ड्यूटी लगा दी जाती है। ऐसे में जवानों की कमी के कारण कई पोस्ट खाली रहते हैं। इसके कारण जाम की बड़ी समस्या होती है और लोग जूझते रहते हैं। इसी तरह अवैध पार्किंग में भी वाहनों पर कार्रवाई नहीं की जाती। मोतीझील, सरैयागंज टावर आदि जगहों पर सड़क पर बेतरतीब तरीके से बाइक व अन्य वाहन लगाकर लोग खरीदारी करने चले जाते हैं। इसके कारण हर दिन लोग जाम को झेलते रहते हैं। बेतरतीब ढंग से वाहनों को लगाने वालों पर कार्रवाई नहीं होती।


स्कूल बसों के नाम पर बड़े वाहनों की होती इंट्री : अखाड़ाघाट रोड में स्कूल बस फंसा रहा। इसके कारण भीषण जाम से लोग जूझते रहे। स्कूल बस पर सवार बच्चे भी परेशान रहे। बता दें कि छहपहिया स्कूल बसों का शहर में प्रवेश कराया जाता है। जबकि स्कूली बच्चों के आवागमन के लिए छोटी गाडिय़ों का प्रविधान है। लेकिन इस पर प्रशासन व ट्रैफिक पुलिस की ओर से कोई कार्रवाई नहीं की जा रही। इस तरह स्कूल बसों के परिचालन से भी हर दिन लोग ट्रैफिक जाम से जूझ रहे हैं।


इन जगहों पर लगता जाम : शहर के करीब एक दर्जन जगहों पर हर दिन जाम लगता है। इसमें अघोरिया बाजार, मोतीझील, कल्याणी, अखाड़ाघाट पुल रोड, इमलीचटटी, जूरन छपरा, कलमबाग, मिठनपुरा पानी टंकी चौक, कच्ची-पक्की, गोबरसही, चांदनी चौक हाईवे आदि शामिल है।


शहर में वन-वे का पालन नहीं : शहर में एक दर्जन जगहों पर वनवे है, मगर इसका पूरी तरह से पालन नहीं किया जा रहा। इसके कारण भी हर दिन जाम लगता है। कल्याणी से हरिसभा की ओर वन-वे है। इसकी अनदेखी की जाती है। इसके कारण जाम की समस्या बनती है। इमलीचटटी व जूरन छपरा में वन-वे है। इसका पालन नहीं हो रहा। मोतीझील में भी वन-वे लागू है, लेकिन दोनों तरफ से लोग आते-जाते हैं। अन्य कई इलाकों में भी यही हाल है। यातायात थाने की ओर से वन-वे पर पूरी तरह से सख्ती नहीं बरती जा रही। इसके लिए पुलिस पूरी तरह से जिम्मेदार है। क्योंकि लोगों पर जब तक सख्ती नहीं दिखाया जाएगा। इसका अनुपालन नहीं होगा।


– ट्रैफिक व्यवस्था को दुरुस्त करने की कवायद चल रही है। हर दिन अवैध पार्किंग वालों का चालान काटा जा रहा है। नो इंट्री का सख्ती से अनुपालन कराया जाएगा। – रवींद्र नाथ सिंह, यातायात डीएसपी

INPUT: JNN

Share This Article.....

Leave a Reply

Your email address will not be published.