Muzaffarpur Eye Hospital हुआ Seal, प्रशासन ने OT-कार्यालय और दवा दुकान को किया गया है Seal

मुजफ्फरपुर के आंखफोड़वा कांड में प्रशासन ने बड़ी कार्रवाई की है। जिला प्रशासन और पुलिस की टीम शनिवार को जुरन छपरा स्थित आई हॉस्पिटल पहुंची। इसके बाद मजिस्ट्रेट की तैनाती में आई हॉस्पिटल के OT, कार्यालय और दवा दुकान को सील कर दिया गया। ताला बंद कर इस पर लाल कपड़ा बांधकर ठप्पा लगा दिया गया। इस कार्रवाई के बाद हडकंप मच गया। आसपास के लोगों की काफी भीड़ जुट गई। काफी संख्या में पुलिस बल होने के कारण भीड़ को कंट्रोल कर हटाया गया।




टीम में शामिल अपर SDM मनीषा और टाउन DSP रामनरेश पासवान मौजूद थे। उन्होंने बताया कि निर्देश के अनुसार इसे सील कर दिया गया है। आगे की कार्रवाई की जा रही है। वहीं FIR के संबंध में टाउन DSP ने बताया कि जो भी नियम संगत कार्रवाई होगी। वो की जा रही है। उन्होंने कहा कि FIR में धारा में बदलाव करने की अफवाह उड़ रही है। जबकि ऐसा कुछ नहीं है। FIR में जो तर्कसंगत धाराएं हैं। वही लगाई गई है। इसी अनुसार पुलिस जांच कर रही है।


एक्सपर्ट टीम करेगी जांच
टाउन DSP ने बताया कि OT और दुकान को सील किया गया है। ताकि जो एक्सपर्ट टीम होगी। वो इसकी जांच करेगी। इससे जो संक्रमण हुआ है। उसका पता लगेगा। सील होने से यह स्थल सुरक्षित हो गया है। कोई इसमें रखे सामानों से छेड़छाड़ नहीं कर सकेगा। इससे एक्सपर्ट टीम को ठोस साक्ष्य हाथ लग सकते हैं। बता दें कि शुरुआत में ही आई हॉस्पिटल से जांच के लिए कुछ नमूने एकत्र कर SKMCH के लैब में भेजे गए थे। इसकी जांच अभी चल रही है।


संक्रमण के यहीं से फैलने की आशंका
सूत्रों की माने तो संक्रमण के इन्हीं जगहों सर फैलने की आशंका है। इसलिए इन जगहों की सील गया है। जब राज्य स्तरीय टीम जांच के लिए आई हॉस्पिटल आयी थी तो उन्होंने भी माना था कि संक्रमण इन्हीं जगहों से फैला होगा। हालांकि अब तक माइक्रो बायोलॉजी रिपोर्ट नहीं आयी है। लेकिन, अंदर ही अंदर चर्चा है कि रिपोर्ट में संक्रमण की बात ही है। जो OT से फैली है। वहीं मरीजों को दी गयी दवा के भी खराब होने की बात सामने आई है। लेकिन, इसकी पुष्टि अभी नहीं हुई है।

INPUT: Bhsakar

Share This Article.....

Leave a Reply

Your email address will not be published.