Muzaffarpur: बैठकों में बनती रही योजनाएं, कागजों पर ही पार्किंग स्थल

मुजफ्फरपुर : पार्किंग स्थल के अभाव में सड़कों पर वाहन खड़े किए जा रहे हैं। इससे यातायात अवरुद्ध हो रहा है और शहरवासी जाम की समस्या से जूझ रहे हैं। इससे निपटने के लिए प्रशासन की बैठकों में योजनाएं बनती रहीं। पार्किंग स्थलों का निर्माण कागज पर होता रहा।




प्रमंडलीय आयुक्त की अध्यक्षता में पांच साल पूर्व हुई बैठक में पार्किंग स्थल चिह्नित करने के लिए नगर आयुक्त के नेतृत्व में आधा दर्जन अधिकारियों की कमेटी बनी। दो दर्जन स्थान चिह्नित किए गए, लेकिन उनको विकसित नहीं किया गया। पार्किंग स्थल के विकास की योजना फाइलों में भटक कर रह गई। पार्किंग स्थल के अभाव में लोग सड़क पर वाहन खड़े कर रहे हैं। मोतीझील फ्लाई ओवर व बम पुलिस गली में बीते साल पार्किंग स्थल का विकास हुआ, लेकिन वहां भी अतिक्रमणकारियों का कब्जा है।


पार्किंग स्थल के लिए इन स्थानों को किया गया था चिह्नित :
हरिसभा चौक, पुरानी बाजार नाका, पक्की सराय चौक, डीएन हाईस्कूल हाता, जिला स्कूल, अघोरिया बाजार से रामदयालु रोड में स्टेट बैंक, जेनिथ पेट्रोल पंप, सदर थाना, छाता बाजार गोलंबर, बीबी कालेजिएट, भगवानपुर चौक, गोबरसही, पशुपालन विभाग के पास खाली जमीन।


शहर में जाम की समस्या का एक बड़ा कारण पार्किंग स्थल का नहीं होना है। इसके अभाव में लोगों को मजबूरन सड़क पर वाहन खड़े करने पड़ते हैं।

संजीव कुमार सिन्हा, कालीबाड़ी रोड पार्किंग स्थल के विकास के नाम पर प्रशासन सिर्फ कागजी कार्रवाई करता है। इसके लिए स्थान चिह्नित करता है, लेकिन उसे अतिक्रमणकारियों से खाली नहीं कराता है।

धीरज कुमार, ब्रह्मापुरा मोतीझील एवं बम पुलिस गली में पार्किंग स्थल बनाया गया है। वहां वाहन की जगह फुटपाथी दुकानदारों को बसाया जाता है।

असगर हुसैन, मेंहदीहसन रोड प्रशासन द्वारा पार्किंग स्थल का विकास नहीं किया जा रहा है। सड़क किनारे वाहन खड़ा करने पर जुर्माना जरूर वसूल किया जाता है।


सुनील कुमार, गरीब स्थान रोड
शहर में निगम के पास जगह की कमी है। इसके बाद भी जहां जगह मिलती है वहां पार्किंग स्थल के निर्माण की कोशिश की जाती है। स्मार्ट सिटी मिशन के तहत मल्टी स्टोरी पार्किंग की सुविधा उपलब्ध कराने की योजना पर काम चल रहा है।
ओम प्रकाश, नगर प्रबंधक

INPUT: JNN

Share This Article.....

Leave a Reply

Your email address will not be published.