Muzaffarpur में बिना लेवल लिए नाला निर्माण की शिकायत, लोगों के विरोध पर खुद पहुंचे महापौर और नगर विधायक

चार साल की कवायद के बाद 12 करोड़ की लागत से ब्रह्मपुरा थाने से बीबीगंज होकर भामाशाह द्वार तक रोड-नाला बन रहा है। इसमें लोग खामी बता कर विराेध कर रहे हैं। रविवार की सुबह करीब 11 बजे पूर्व मंत्री सुरेश शर्मा वहां पहुंचे। शाम 5 बजे मेयर ई. राकेश पिंटू के साथ नगर विधायक विजेंद्र चौधरी भी पहुंचे। पूर्व मंत्री सुरेश शर्मा के साथ आरसीडी के कार्यपालक अभियंता अंजनी कुमार व जेई नरेंद्र कुमार भी थे।




लोगों ने बिना लेवल लिए नाला बनाने से आगे कठिनाई हाेने की शिकायत की। ब्रह्मपुरा गुमटी के पास सड़क की ऊंचाई बढ़ाने की लाेगाें की मांग काे ई. अंजनी कुमार ने खारिज कर दिया। फिर पूर्व मंत्री ने नगर आयुक्त से भी बात कर समस्या दूर करने का भराेसा दिलाया। इस दाैरान वार्ड पार्षद सुषमा देवी, चंदेश्वर सिंह, कमलेश कुमार, चंदन कुमार, राकेश कुमार झा, बंटी सिंह, छोटू कुमार, वंदना शर्मा, अमन राज, चुन्नू, आयुष कश्यप, चुनचुन आदि माैजूद थे।


विधायक ने दिया रोड की हाइट मेंटेन करने का सुझाव
नगर विधायक विजेंद्र चौधरी के साथ मेयर ने भी वहां निर्माण स्थल का जायजा लिया। हालांकि, तब कार्यपालक अभियंता नहीं पहुंच सके। उन्होंने जूनियर इंजीनियर को भेजा। नगर विधायक ने विभागीय इंजीनियर को सड़क की हाइट मेंटेन करने का सुझाव दिया। तकरीबन 100 मीटर दूरी तक सड़क नीची है। इसलिए यहां जलजमाव हाेता है।


ये खामियां हैं यहां पर हाे रहे निर्माण में
सड़क के एक तरफ बन रहे 2 फीट चौड़े नाले से सिर्फ हाउस होल्डर्स काे लाभ हाेगा। अभी कच्चे नाले से पानी निकलता है तो 5 फीट चौड़ा है। सड़क की दूसरी ओर कम से कम 6 फीट चौड़ा नाला बनना चाहिए। क्षेत्रफल व वर्षा के अनुपात में नाले की चौड़ाई तय हाेनी चाहिए। सड़क की ढलाई में स्टील का इस्तेमाल भी जरूरी है। (जैसा कि ई. मिथिलेश शाही व ई. ब्रजेश्वर ठाकुर ने बताया)

INPUT: Bhaskar

Share This Article.....

Leave a Reply

Your email address will not be published.