जानिए कौन हैं ग्रुप कैप्टन वरुण सिंह, जो CDS बिपिन रावत के हेलिकॉप्टर हादसे में अकेले लड़ रहे जिंदगी और मौत की जंग

तमिलनाडु में कुन्नूर के पास चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ (CDS) जनरल बिपिन रावत, उनकी पत्नी मधुलिका रावत और 11 अन्य लोगों का बुधवार को हवाई हादसे में निधन हो गया. हादसे में ग्रुप कैप्टन वरुण सिंह इकलौते सर्वाइवर रहे हैं, जिन्हें घायल अवस्था में वेलिंगटन के मिलिट्री हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है.




भारतीय वायुसेना ने बताया कि सैन्य हेलिकॉप्टर दुर्घटना में घायल हुए भारतीय वायु सेना के ग्रुप कैप्टन वरुण सिंह वेलिंगटन (नीलगिरी हिल्स) स्थित डिफेंस सर्विस स्टाफ कॉलेज में डायरेक्टिंग स्टाफ हैं.


शौर्य चक्र से सम्मानित
रिपोर्ट्स के मुताबिक, साल 2020 में एक हवाई इमरजेंसी के दौरान अपने LCA तेजस लड़ाकू विमान को बचाने के लिए वरुण सिंह को शौर्य चक्र से सम्मानित किया जा चुका है. इस साल के स्वतंत्रता दिवस पर इस कैप्टन को इस सम्मान से नवाजा गया था.


यूपी के रहने वाले हैं वरुण
वरुण सिंह उत्तर प्रदेश के देवरिया जिले की रुद्रपुर तहसील के खोरमा कन्हौली गांव के रहने वाले हैं. डीएसएससी में पदस्थ होने के चलते उनका पूरा परिवार तमिलनाडु में रहता है. ग्रुप कैप्टन वरुण सिंह, कांग्रेस नेता और प्रवक्ता अखिलेश प्रताप सिंह के भतीजे हैं.


वायुसेना का Mi17 V5 हेलीकॉप्टर क्रैश
इंडियन एयरफोर्स के मुताबिक, सीडीएस रावत बुधवार को स्टाफ कोर्स के फैकल्टी और स्टूडेंट्स को संबोधित करने के लिए वेलिंगटन (नीलगिरी हिल्स) स्थित डीएसएससी के दौरे पर थे. इसी बीच, दोपहर वायुसेना का Mi17 V5 हेलिकॉप्टर तमिलनाडु के कुन्नूर के पास हादसे का शिकार हो गया, जिसमें सीडीएस और 9 अन्य यात्रियों को ले जा रहे 4 सदस्यों का दल शामिल था.

INPUT: IT Network

Share This Article.....

Leave a Reply

Your email address will not be published.