Muzaffarpur में बैंकिंग फ्रॉड : Police ने ED को भेजी रिपोर्ट, अब चार्जशीट की चल रही कवायद

मुजफ्फरपुर में 5 करोड़ के बैंकिंग फ्रॉड मामले में ईडी ने भी कार्रवाई सम्बन्धित रिपोर्ट टाउन थाना की पुलिस से मांगी थी। ईडी ने सिर्फ रिटायर्ड महिला प्रोफेसर मीणा कुमारी के अकाउंट से हुए एक करोड़ सात लाख रुपये का डिटेल्स की मांग की थी। गुरुवार को कोटाउन थाना की पुलिस ने डाक के माध्यम से इस रिपोर्ट को पटना भेज दिया। बताया जाता है कि पुलिस FIR और चार्जशीट से संबंधित जानकारी ईडी को दी है।




पुलिस के अनुसार, बीते दिनों प्रर्वतन निदेशालय (ईडी) की ओर से टाउन थाने की पुलिस को पत्र भेजा गया था। इसमें मांग की गयी थी कि रिटायर्ड महिला प्रोफेसर के खाते जो एक करोड़ सात लाख रुपये का फ्रॉड हुआ उसमें क्या कार्रवाई हुई। पुलिस ने किस-किस पर FIR दर्ज किया। चार्जशीट हुआ कि नहीं, वर्तमान में केस की क्या स्थिति है। इसकी जानकारी मांगी गयी थी।


इधर, टाउन थाने की पुलिस अब सेंट्रल जेल में बंद फ्रॉड के आरोपी PNB के कैशियर नीतेश कुमार सिंह, जफर इकबाल समेत छह आरोपियों के खिलाफ चार्जशीट की कवायद तेज कर दी है। शीघ्र ही ठोस साक्ष्य के आधार पर इन सभी के खिलाफ चार्जशीट दायर की जाएगी। पुलिस सभी छह आरोपितों को इस कांड में रिमांड कर चुकी है।


बता दें कि PNB के कैशियर ने अपने गिरोह के साथ मिलकर पांच करोड़ रुपये से अधिक का बैंकिंग फ्रॉड किया था। उक्त घटना को ये सभी सिम स्वैप कर अंजाम देते थे। कैशियर नितेश ग्राहकों के खाता और डिटेल्स की जानकारी जफर तक पहुंचाता था। जफर फर्जी आधार कार्ड से ग्राहक के मोबाइल नम्बर का सिम निकालता था। फिर सिम स्वैप के जरिए खाता से रुपये उड़ा लेता था। उक्त रुपये यहां से पश्चिम बंगाल में शाहिद द्वारा खोले गए घोस्ट अकाउंट में ट्रांसफर किये जाते थे। फिर वह उसमे से 50 % काटकर हवाला के माध्यम से जफर तक रुपये भेजता था। इसमें से नितेश समेत अन्य अपना-अपना हिस्सा लेटव थे।

INPUT: Bhaskar

Share This Article.....

Leave a Reply

Your email address will not be published.