Muzaffarpur में समय से काम पूरा नहीं करने वाले संवेदक हो सकते है Black Listed, 30 दिसंबर तक नल जल योजना को भी पूरा करने के निर्देश

मुजफ्फरपुर। तय समय सीमा में काम पूरा नहीं करने वाले संवेदकों को ब्लैक लिस्टेड किया जाएगा। कार्य की गुणवत्ता की अनदेखी पर कार्रवाई होगी। नल-जल योजना का काम हर हालत में 30 दिसंबर तक पूरा किया जाएगा।




ये बातें महापौर राकेश कुमार ने गुरुवार को अपने कार्यालय कक्ष में संवेदकों के साथ बैठक करते हुए कहीं। इस दौरान नगर आयुक्त विवेक रंजन मैत्रेय भी मौजूद थे।


महापौर ने कहा कि नल-जल योजना के तहत शहर के सभी वार्डों में मिनी पंप, मिनी वाटर टावर व पाइप लाइन का विस्तार किया जा रहा है। कुछ वार्डों में काम पूरा हो चुका है, जबकि कई में अभी कार्य हो रहा है। उन्होंने संवेदकों को हर हाल में दिसंबर के अंत तक काम पूरा करने को कहा। साथ ही पाइप लाइन बिछाने के दौरान काटी गईं सड़कों की मरम्मत करने का आदेश दिया। उन्होंने कहा कि जिन इलाकों में पाइप लाइन बिछाई जा रही है वहां सभी घरों को पानी का कनेक्शन जरूर दिया जाए। कनेक्शन नहीं मिलने की कोई शिकायत नहीं आनी चाहिए। बैठक में वार्ड पार्षद राजीव कुमार पंकू, हरिओम कुमार, अर्चना पंडित के अलावा निगम के सभी अभियंता मौजूद थे।


बरूराज में छापेमारी के बाद दो अवैध आरा मिलें सील
वन विभाग की टीम ने बरूराज थाना क्षेत्र के मकोड़ी टोला स्थित मेवालाल भगत और नयाटोला स्थित जीतेंद्र कुमार की अवैध रूप से संचालित आरा मिलों पर छापेमारी की। छापेमारी के बाद दोनों मिलों को सील कर दिया गया। छापेमारी कर रहे वन परिसर पदाधिकारी रविशंकर श्रीवास्तव ने बताया कि इन दोनों के विरुद्ध अवैध रूप से आरा मिल का संचालन करने के आरोप में विभागीय थाने में मामला दर्ज किया जा रहा है।


बताया कि उन्हें गुप्त सूचना मिली थी कि इन दोनों जगहों पर बगैर अनुज्ञप्ति आरा मिल का संचालन किया जा रहा है जिससे विभाग को प्रतिवर्ष हजारों रुपये के राजस्व का नुकसान उठाना पड़ रहा है। वहीं अनुज्ञप्तिधारी मिलों को भी नुकसान पहुंच रहा है। सूचना का सत्यापन करने के बाद जब दोनों जगहों पर छापेमारी की गई तो दोनों मिल संचालित पाई गई। फिर दोनों को सील कर दिया गया है। एफआइआर की प्रक्रिया की जा रही है। उनके साथ वनरक्षी विनोद कुमार भी थे।

INPUT: JNN

Share This Article.....

Leave a Reply

Your email address will not be published.