BRABU में परीक्षा के दौरान उपद्रव फैलाने मामले में 2 गिरफ्तार, 6 आरोपित अभी भी पुलिस गिरफ्त से दूर

मुजफ्फरपुर। बीआरए बिहार विश्वविद्यालय में शुक्रवार को परीक्षा के दौरान शिक्षकों, कर्मचारियों और सुरक्षाकर्मी की पिटाई व उत्तर पुस्तिका फाडऩे के मामले में कार्रवाई शुरू हो गई है।




शनिवार को पुलिस ने आरोपितों की गिरफ्तारी को लेकर जगह-जगह छापेमारी की। पीजी छात्रावासों को भी देर रात खंगाला गया। हालांकि एक भी आरोपित पुलिस के हाथ नहीं आ सके। पुलिस ने एक आरोपित के स्वजन को हिरासत में लेकर थाना पर पूछताछ की। नगर डीएसपी रामनरेश पासवान दोपहर में विवि थाना पहुंचे। उन्होंने इस मामले को लेकर विवि के पदाधिकारियों को पूछताछ के लिए बुलाया। कुलानुशासक डा.अजीत कुमार, परीक्षा नियंत्रक डा.संजय कुमार और केंद्राधीक्षक डा.शिवानंद सिंह से मामले की जानकारी ली। विवि के पदाधिकारियों ने पुलिस से परिसर में बिगड़े माहौल को नियंत्रित करने के लिए मदद मांगी।


डीएसपी ने परीक्षा भवन में सीसी कैमरा नहीं होने पर सवाल उठाया। कहा कि जहां प्रतिदिन हजारों की संख्या में विद्यार्थी आते हैं यहां सीसी कैमरा होना चाहिए। इससे आरोपितों की पहचान आसानी से की जा सकती थी। इसपर विवि के पदाधिकारियों ने कहा कि दो से तीन दिनों के भीतर विवि के दोनों परीक्षा भवनों में सीसी कैमरे लगाए जाएंगे। डीएसपी ने बताया कि अमन कुमार और आकाश तिवारी को जेल भेजा जा चुका है। शेष छह नामजद आरोपितों की गिरफ्तारी को लेकर पुलिस छापेमारी की है।


छात्रावास में आवंटित विद्यार्थियों की मांगी सूची
डीएसपी ने विवि के पदाधिकारियों से कहा कि पीजी छात्रावासों में अवैध तरीके से युवकों के रहने की सूचना मिल रही है। पूर्व में आपराधिक गतिविधियों के संचालन में भी यहां के युवकों की संलिप्तता रही है। इसको देखते हुए छात्रावास में अब वर्तमान सत्र के ही विद्यार्थी रहेंगे। सूची मिलने के बाद पुलिस छात्रावास में इसकी जांच करेगी। इस दौरान अवैध तरीके से रह रहे युवकों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।


दोषियों पर कार्रवाई नहीं हुई तो शिक्षक संघ करेगा परीक्षा का बहिष्कार
परीक्षा अवधि में शिक्षकों की पिटाई के बाद डिग्री महाविद्यालय शिक्षक संघ की बैठक शनिवार को विवि के अतिथि गृह में बुलाई गई। संयोजक डा.धर्मेंद्र चौधरी ने कहा कि यदि आरोपितों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई नहीं की गई तो शिक्षक परीक्षा कार्य का पूर्णत: बहिष्कार करेंगे। वहीं विवि को भी अनिश्चितकाल के लिए बंद कराया जाएगा। इस घटना से शिक्षकों के सम्मान को ठेस पहुंची है। कहा कि कुलपति के आने के बाद उनसे इस मुद्दे पर वार्ता की जाएगी। बैठक में संत ज्ञानेश्वर, घनश्याम ठाकुर, राकेश मिश्रा, मनोज कुमार आदि थे।

INPUT:JNN

Share This Article.....

Leave a Reply

Your email address will not be published.