Muzaffarpur Smart City में वायु प्रदूषण पर निगम का अभियान, होटल में जलाए जा रहे कोयला व लकड़ी के चूल्हे को किया जा रहा ध्वस्त

मुजफ्फरपुर: प्रदूषण रोकने के लिए नगर निगम ने शहर के होटलों में कोयला एवं लकड़ी के चूल्हे जलाने पर प्रतिबंध लगा है। इसके बावजूद होटलों में खुलेआम ऐसे चूल्हे का प्रयोग किया जा रहा है। नगर आयुक्त विवेक रंजन मैत्रेय के निर्देश पर नगर निगम की टीम ने सिटी मैनेजर ओम प्रकाश एवं सफाई प्रभारी कौशल किशोर के नेतृत्व में स्टेशन रोड में धावा बोल एक दर्जन होटलों में जलाए जा रहे कोयला एवं लकड़ी के चूल्हे को ध्वस्त कर दिया।




आधा दर्जन चूल्हे जब्त किए गए। साथ ही दुकानदारों को आगे ऐसे चूल्हे का प्रयोग करने पर जुर्माना के साथ-सथ कानूनी का कार्रवाई की चेतावनी दी गई। सिटी मैनेजर ने कहा कि शहर में प्रदूषण रोकने के लिए कई कदम उठाए जा रहे हैं। इसके तहत शहरी क्षेत्र के होटलों एवं फुटपाथी चाय एवं नाश्ते की दुकानों में कोयला एवं लकड़ी के चूल्हे के प्रयोग पर प्रतिबंध लगाया गया है ताकि शहर के लोग प्रदूषण का शिकार कम हो सके।


उन्होंने कहा कि लोग स्वास्थ्य लाभ के लिए काफी संख्या में सुबह में सैर-सपाटे करते हैं। होटल में कोयला का चूल्हा जलाकर छोड़ दिया जाता है। चूल्हे से निकलने वाली धुएं से लोगों को सड़क पर चलने में परेशानी होती है। धुएं से सड़क ढकी रहती है। सैर-सपाटा करने में सबसे अधिक परेशानी सांस के रोगियों को होती है। धुएं के कारण पूरी तरह से सांस नहीं ले सकते हैं।


—————–
कोट- होटल में कोयले और लकड़ी के चूल्हे जलाने पर प्रतिबंध है। अगर होटल में चूल्हा जल रहा है तो गलत है। चूल्हे को नष्ट कर होटल संचालक से जुर्माना वसूलने के साथ-साथ कानूनी कार्रवाई भी की जाएगी।
-ओम प्रकाश, सिटी मैनेजर,नगर निगम

INPUT: JNN

Share This Article.....

Leave a Reply

Your email address will not be published.