Patna मेट्रो के लिए 76 एकड़ जमीन का दिसंबर तक होगा अधिग्रहण, 2024 में शुरू करने का है लक्ष्य

पटना मेट्रो का निर्माण कार्य जनवरी से तेज होगा। कारण, आईएसबीटी के सामने 76.645 एकड़ जमीन के अधिग्रहण की प्रक्रिया चल रही है, जो दिसंबर तक पूरी होगी। डीएम डॉ. चंद्रशेखर सिंह के नेतृत्व में जिला प्रोजेक्ट मॉनिटरिंग कमेटी की समीक्षा बैठक के दौरान जिला भू-अर्जन पदाधिकारी प्रमोद कुमार ने कहा कि डिपो के लिए दो मौजा की 76.645 एकड़ जमीन के अधिग्रहण का प्रस्ताव है।




प्रमंडलीय आयुक्त द्वारा भूमि एवं राजस्व सुधार विभाग के अपर मुख्य सचिव को पत्र भेजा गया है। विभाग के स्तर पर प्रकाशन की कार्रवाई की जाएगी। विभाग के स्तर पर प्रकाशन होने के 60 दिन तक किसानों से दावा-आपत्ति लिया जाएग। इसके बाद सेक्शन 90 के तहत अधिसूचना जारी होगी कि सरकार द्वारा मेट्रो के डिपो निर्माण के लिए जमीन का अधिग्रहण किया गया है।


इसके साथ पंचाट तैयार कर किसानों को नोटिस दिया जाएगा। बैंक अकाउंट की फोटो कॉपी, फोटोयुक्त पहचान पत्र सहित पंचाट की सूची के अनुरूप कागजात लेकर आने वाले किसानों को मुआवजे का भुगतान होगा। पटना मेट्रो रेल प्रोजेक्ट की कुल लागत 13,366 करोड़ है।


इससे 32.487 किमी लंबाई में दो कॉरिडोर का निर्माण करना है। पहला कॉरिडोर दानापुर से मीठापुर 17.93 किमी और दूसरा कॉरिडोर पटना रेलवे स्टेशन से आईएसबीटी तक 14.55 किमी है। इसको अक्टूबर 2024 में चालू करने का लक्ष्य रखा गया है।


कॉरिडोर-1 का पहला स्टेशन दानापुर में सेना की जमीन पर बनेगा, रक्षा मंत्रालय से एनओसी लेने की चल रही प्रक्रिया
आईएसबीटी से मलाही पकड़ी के बीच 6.60 किमी एलिवेटेड मेट्रो के निर्माण के लिए यूटिलिटी शिफ्टिंग का कार्य तेजी से चल रहा है। अभी तक बिजली के पोल और तार की शिफ्टिंग की गई है। नाला और नाली के साथ इंटरनेट आदि के तार की शिफ्टिंग चल रही है।


इसके साथ ही एलिवेटेड मेट्रो स्टेशन के निर्माण व एलिवेटे लाइन (वाया डक्ट) के लिए पायलिंग का निर्माण तेजी कार्य चल रहा है। कॉरिडोर-1 का पहला स्टेशन दानापुर स्थित सेना की जमीन पर बनेगा। इसके लिए रक्षा मंत्रालय से एनओसी प्रक्रियाधीन है। इसके साथ अन्य स्टेशन बनाने और लाइन बिछाने के लिए नगर निगम सहित अन्य विभागों से जमीन का एनओसी लेने का कार्य जारी है।


केंद्र व राज्य सरकार के फंड से बनेंगे 11 एलिवेटेड स्टेशन
केंद्र और राज्य सरकार के फंड से 11 एलिवेटेड स्टेशन के साथ लाइन बनाना है। इसमें कॉरिडोर वन का दानापुर, सगुना मोड, आरपीएस मोड, पटलिपुत्र, मीठापुर, रामकृष्णानगर, जगनपुर, खेमनीचक और कॉरिडोर टू का मलाही पकड़ी, खेमनीचक, भूतनाथ, जीरो माइल, न्यू आईएसबीटी एलिवेटेड स्टेशन शामिल है।

INPUT: Bhaskar

Share This Article.....

Leave a Reply

Your email address will not be published.