Bihar में अभी नही रुकेगा बारिश और व्रजपत का ‘कहर’, मौसम विभाग ने इन जिलों के लिए जारी किया Red और Orange अलर्ट

बिहार में मानसून की सक्रियता चरम पर है। राज्य के कई जिलों में शुक्रवार को भारी बारिश हुई है। कई जगह वज्रपात की भी सूचना है। शनिवार को भी पटना सहित राज्य के कई हिस्सों में सुबह में बारिश होगी। वैशाली, समस्तीपुर और खगड़िया में अत्यधिक बारिश का रेड अलर्ट जारी किया गया है।




पटना, नालंदा, शेखपुरा और बेगूसराय में भारी बारिश का ऑरेंज अलर्ट है। जबकि गया, नालंदा, औरंगाबाद, अरवल, भोजपुर, सारण, मुजफ्फरपुर, दरभंगा, सहरसा, भागलपुर, बांका, जमुई, लखीसराय और मुंगेर में भी ठीकठाक बारिश होगी। राज्य के कई जिलों में तेज रफ्तार हवाओं का चलना जारी है


धान की फसल को तेज हवाओं से नुकसान पहुंचा है। पटना सहित अन्य जिलों में अब भी बादलों का बसेरा है और गरज तड़क के साथ बूंदाबांदी हो रही है। राज्यभर में पारा गिरने से राहत मिली है, लेकिन बादलों के घनीभूत होने से लोग आशंकित हैं।


तीन अक्टूबर के बाद बारिश में आएगी कमी
मौसम विभाग ने चेतावनी जारी कर कहा है कि उत्तर पश्चिम झारखंड और बिहार के आसपास के क्षेत्रों में एक स्पष्ट निम्न दबाव का क्षेत्र बना है। आईएमडी पटना के निदेशक विवेक सिन्हा इस बताया कि शुक्रवार को यह धीरे यह उत्तर-उत्तर पूर्वी दिशा में आगे बढ़ा है और बिहार के अधिकतर जिले इससे प्रभावित हुए हैं।


अगले 24 घंटे तक 35 से 45 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से तेज हवा चल सकती है। मौसम विभाग ने अलग-अलग तिथियों में अलग-अलग जिलों के लिए भारी तो कहीं अतिभारी बारिश का अलर्ट जारी किया है। तीन अक्टूबर तक मौसम की स्थिति को देखते हुए सतर्क रहने की चेतावनी जारी की गई है। तीन अक्टूबर की शाम के बाद से इसका प्रभाव धीरे धीरे कमजोर हो जाएगा।


दो से तीन अक्टूबर सुबह साढ़े आठ बजे तक यहां होगी बारिश 
दरभंगा, समस्तीपुर, खगड़िया और सहरसा, वैशाली, मुजफ्फरपुर, सीतामढ़ी, मधुबनी, सुपौल, मधेपुरा, बेगूसराय और अररिया।


शुक्रवार शाम तक यहां हुई अधिक 
शेखपुरा के अरयारी – 178.6 मिमी
शेखपुरा – 145 मिमी
बरबीघा – 138.4 मिमी
नवादा के कौआकोल – 144.2 मिमी
बांका के चांदन – 122.2 मिमी
जमुई के झाझा – 117.6 मिमी
सीवान के पंचरुखी – 100.6 मिमी
बड़हिया – 92.2 मिमी
जमुई – 89.2 मिमी

INPUT: Hindustan

Share This Article.....

Leave a Reply

Your email address will not be published.