Bihar से भेजे गए Mail से मची खलबली, Kolkata एयरपोर्ट पर अधिकारियों के फूले हाथ-पांव, ढाई घंटे तक मची रही अफरातफरी

कोलकाता के नेताजी सुभाष चंद्र बोस एयरपोर्ट पर गो एयर का विमान बेंगलुरू जाने को तैयार था। सारे पैसेंजर विमान में बैठ चुके थे। फ्लाइट टेक ऑफ करने वाली थी कि एयरपोर्ट कंट्रोल से निर्देश मिला कि विमान को रोक दिया जाये। थोड़ी देर में CISF के अधिकारी औऱ जवानों के साथ-साथ एयरपोर्ट ऑथिरिटी के अधिकारियों का जत्था विमान में आ पहुंचा। फिर जो अफरा-तफरी मची वह ढ़ाई घंटे तक कायम रही। ये सब सिर्फ इसलिए हुआ कि बिहार के एक 16 साल के लड़के ने कारनामा कर दिखाया था।




बम रखने के मेल के बाद भारी अफरातफरी
दरअसल जिस समय कोलकता से बेंगलुरु जाने के लिए गो एयर का विमान रनवे से टेकऑफ करने वाला था उसी वक्त एयरपोर्ट अथारिटी को एक मेल मिला. मेल में लिखा था कि प्लेन में बम रखा है. जैसे ही विमान उड़ेगा वैसे ही बम ब्लास्ट हो जायेगा. इसके बाद एयरपोर्ट पर आपात स्थिति का एलान कर दिया गया. प्लेन में पहुंचे सीआईएसएफ के अधिकारियों ने आनन-फानन में सारे यात्रियों को प्लेन से उतर जाने को कहा. उनके उतरते ही पूरे विमान की तलाशी ली गयी.यात्रियों के सामान की फिर से जांच पड़ताल की गयी. विमान में कोई बम नहीं मिला. ढ़ाई घंटे तक जांच का ये सिलसिला चलता रहा. जब प्लेन में कुछ नहीं मिला तो फिर उसे बेंगलुरू के लिए रवाना किया गया.


बिहार से गया मेल
गो एयर के विमान को उड़ाने की धमकी वाले मेल की सरकारी एजेंसियों ने छानबनी की है. पता चला कि बिहार के बक्सर से वह मेल भेजा गया था. जांच एजेंसियों ने छानबीन के बाद बक्सर के सिमरी थाना क्षेत्र के अशापड़री गांव से 16 साल के एक लडके को हिरासत में ले लिया है. कोलकाता से सीआईएसएफ ने बिहार पुलिस को उस किशोर के बारे में जानकारी दी थी. दरअसल सीआईएसएफ के अधिकारियों ने मेल आइडी का लोकेशन निकाला था. उसके बाद उसकी पूरी जानकारी बक्सर पुलिस को दी गयी थी. सीआईएसएफ के इनपुट पर स्थानीय पुलिस ने उसे हिरासत में ले लिया है. उससे पूछताछ करने के लिए कोलकाता से एयरपोर्ट अथारिटी की टीम और सीआईएसएफ अधिकारियों का दल बक्सर पहुंचने वाला है.


किशोर को फंसाने की आशंका
बक्सर के एसपी नीरज कुमार सिंह ने कहा कि जिस मेल आईडी से विमान को उड़ाने की धमकी दी गयी थी उसे उपयोग करने वाले किशोर को हिरासत में ले लिया गया है. इसकी खबर सीआईएसएफ को दे दी गयी है जिसकी टीम बक्सर पहुंचने वाली है. वैसे स्थानीय लोगों से बातचीत के बाद हालांकि मामला कुछ औऱ प्रतीत हो रहा है. हिरासत में लिया गया किशोर गांव में ही साइबर कैफे चलाता है. उसके पिता किसान हैं और परिवार की स्थिति अच्छी नहीं है. प्रथम दृष्टया ये लग रहा है कि किसी ने उसे फंसाने के लिए उसके मेल आईडी का दुरूपयोग किया है. किशोर का एक मोबाइल कुछ दिन पहले चोरी हो गया था जिसका सनहा उसने थाने में दर्ज कराया था।

INPUT: FirstBihar

Share This Article.....

Leave a Reply

Your email address will not be published.