त्योहारी सीजन में 24 घंटे सभी ट्रेनों की हो जांच, रेल एसपी ने दिए निर्देश

मुजफ्फरपुर। दुर्गा पूजा के मद्देनजर मुजफ्फरपुर जंक्शन पर रेल एसपी अशोक कुमार ने शनिवार को जीआरपी थानाध्यक्ष, डीएसपी और जवानों के साथ बैठक कर आवश्यक निर्देश दिए। नशाखुरानी गिरोह और शराब तस्करों पर विशेष नजर रखने को कहा। दुर्गा पूजा के अवधि से लेकर पूरे महीने पर प्रदेशाें से बड़ी संख्या में विभिन्न ट्रेनाें से लोग लौटते हैं। उनकी सुरक्षा को लेकर 24 घंटे निगरानी का आदेश दिया गया है।




नाशाखरानी गिराेह पर विशेष नजर रखने को कहा गया। परदेसी की गाढ़ी कमाई को नशाखुरानी गिराेह लूट लेता है। ट्रेनाे में चाेरी-छिनतई की घटनाएं पर भी पूरी तरह रोक लगाने को कहा। उन्होंने स्टेशन के अनाउंसिंग सिस्टम से नशाखुरानों के प्रति सतर्क रहने तथा ट्रेनों में प्रचार-प्रसार कर यात्रियों के बीच जागरूकता अभियान चलाने को कहा।


एसपी ने एक विशेष टीक का गठन करने को कहा है, वे लोग सादे लिबास में अपराधियों पर नजर रखेंगे। रेल एसपी ने कहा कि, गाेरखपुर, बलिया, बराैनी आदि जंक्शन से मुजफ्फरपुर की ओर वाली सभी ट्रेनाें की सघन जांच का आदेश दिया है। यात्रियाें के बीच पंपलेट देकर जागरूक करने को कहा है। 7 अक्टूबर से दुर्गा पुजा शुरू हाे रही है, इसलिए रविवार से ही जागरूकता अभियान शुरू करना है। दीपावली व छठ पुजा तक यही व्यवस्था लागू रहेगा। मौके पर डीएसपी अतनु दत्ता, जीआरपी थानाध्यक्ष दिनेश कुमार साहु सहित अन्य अधिकारी मौजूद थे।


मुजफ्फरपुर जंक्शन के नये आरपीएफ इंस्पेक्टर प्रेमशंकर दुबे ने संभाला कार्यभार
मुजफ्फरपुर जंक्शन पर नये आरपीएफ इंस्पेक्टर प्रेमशंकर दुबे ने शनिवार को कार्यभार संभाल लिया। वे नवगछिया से बदल कर यहां आए हैं। वहीं आरपीएफ इंस्पेक्टर बीपी वर्मा की बदली समस्तीपुर जंक्शन पर चौंकी कमांडर के रूप में हुई है। योगदान के साथ नये इंस्पेक्टर ने अधिनस्त पदाधिकारी और जवानों से परिचय जाना और दुर्गा पूजा के मद्देनजर सतर्क रहने को कहा। उन्होंने कहा कि, वैक्यूम करने वालों तथा स्टेशन के आसपास अनावश्यक रूप से मंडराने वालों पर शीघ्र कार्रवाई का आदेश दिया। स्टेशान परिसर में इधर-उधर गाड़ी खड़ी करने वालों पर भी होगी कार्रवाई। पूर्व मध्य रेल के मुख्य सुरक्षा आयुक्त के आदेश पर यह बदली तीन महीने पहले हुई थी। कोविड के बढ़ते संक्रमण के कारण रेलवे बोर्ड के आदेश पर तत्काल प्रभाव से बदली रोक दी गई। उसके बाद 30 सितंबर को हर हाल में सभी को नये जगहों पर योगदान का आदेश दिया गया था। उसके बाद बदले गए सभी 14 आरपीएफ इंस्पेक्टर आर सब इंस्पेक्टरों ने अपने नये जगहों पर योगदान कर लिए।

INPUT: JNN

Share This Article.....

Leave a Reply

Your email address will not be published.