भारी बारिश से उफान पर नदियां, इन इलाकों में फिर से मंडराया बाढ़ का खतरा

मुजफ्फरपुर : पिछले तीन दिनों से जारी तेज बारिश के कारण कटरा प्रखंड के कई भागों में बाढ़ जैसी स्थिति पैदा हो गई है। बागमती के जलस्तर में व्यापक वृद्धि हुई है। मार्गो में पानी भर जाने से आवागमन बाधित हो गया है। जलजमाव से रबी फसल पर ग्रहण लगते देख किसानों को भविष्य की चिंता सताने लगी है। शुक्रवार से हो रही बारिश के कारण पूरे प्रखंड में जलप्लावन की समस्या बन गई है।




बागमती के जलस्तर में तीन फीट की वृद्धि हुई है। कटरा पीपा पुल पर आवागमन बाधित हो गया है। पहले से ही जलजमाव का दंश झेल रहे बसघटृा डायवर्सन पर पंच फीट पानी बह रहा है। बसघटृा-खंगुरा मार्ग पर आवागमन बंद हो गया है। जलस्तर बढ़ने से बाढ़ जैसी स्थिति बन गई है जिससे लोगों को भारी परेशानी उठानी पड़ रही है। पैदल यात्रियों के लिए तेज धारा से गुजरना जोखिम भरा लग रहा है।


पतांरी स्थित बिजली ट्रांसफार्मर का आधा हिस्सा पानी में डूबा है जिससे बिजली बाधित होने की संभावना है। कटरा-माधोपुर तथा बर्री-तेहवारा मार्ग में पानी भर जाने से आवागमन बाधित है। अतिवृष्टि के कारण प्रखंड का बड़ा भूभाग जलप्लावित हो गया है। बसघटृा, गंगेया, कटरा, खंगुरा, पहसौल आदि गांवों में पहले से ही जलजमाव था। बारिश ने लोगों का जीवन कठिन बना दिया।


दर्जनों घरों में पानी घुस गया है। लोग पंपिंग सेट लगा कर जल निकासी का प्रयास कर रहे हैं। रबी की बुआई के समय खेतों में पानी भर जाने से किसानी पर खतरा उत्पन्न हो गया है। खरीफ फसल से हाथ धो चुके किसानों को रबी की चिंता खाए जा रही है। जलनिकासी के लिए अबतक सरकारी स्तर पर कोई योजना नहीं बनी है जिससे किसान निराश हैं। लंबे काल से सीओ के अनुपस्थित रहने से पीड़ितों की समस्या सुनने वाला कोई नहीं है। किसान भगवान भरोसे जीने को विवश हैं।

INPUT:JNN

Share This Article.....

Leave a Reply

Your email address will not be published.