Muzaffarpur में गहरा रहा बिजली संकट, कई इलाकों में घंटो बिजली गुल, रोटेशन पर हो रही आपूर्ति

मुजफ्फरपुर। कांटी थर्मल की दोनों नई यूनिट से गुरुवार को ढाई सौ मेगावाट बिजली का उत्पादन हुआ। इन दोनों यूनिट की क्षमता 390 मेगावाट बिजली उत्पादन की है। कांटी थर्मल के पुराने दोनों यूनिट दो माह से बंद होने के कारण इसकी उत्पादन क्षमता में काफी कमी आयी है।




इधर, सेंट्रल लोड डिस्पैच से बिजली आवंटन कम मिलने का असर जिले में चौथे दिन भी रहा। वहां से भिखनपुरा ग्रिड को मात्र 40 मेगावाट ही बिजली मिल पायी। हालांकि, एसकेएमसीएच ग्रिड को शुक्रवार को भी फुल लोड बिजली मिली।


कम बिजली मिलने से जिले के विभिन्न इलाकों में छह से आठ घंटे तक बत्ती गुल रही। फिलहाल रोटेशन के आधार पर बिजली आपूर्ति की जा रही है। उधर, सेंट्रल लोड डिस्पैच ने कहा कि शनिवार तक व्यवस्था में सुधार हो जाएगा।

INPUT: Hindustan

Share This Article.....

Leave a Reply

Your email address will not be published.