वाह रे मुजफ्फरपुर पुलिस ! पुलिस अभिरक्षा में कोई कर रहा गर्लफ्रेंड से Video Call, तो किसी ने की अपने पार्टनर से बात

मुजफ्फरपुर. तुर्की ओपी पुलिस ने रविवार को छह शराब कारोबारियों को पिकअप में लादकर कोर्ट भेजा दिया. लापरवाही ऐसी कि उनकी सुरक्षा के लिए सिर्फ छह चौकीदार को लगाया था. कोर्ट में प्रस्तुत करने से पूर्व आरोपितों का जब पुलिस सदर अस्पताल में कोरोना जांच कराने पहुंची, तब वहां पहले से मौजूद गिरफ्तार कारोबारियों के सिंडिकेट से जुड़े लोग व उसके परिजनों ने पिकअप गाड़ी को घेर लिया.

कैदियों को लेकर पहुंचे एक मात्र पुलिस पदाधिकारी भी कोरोना टेस्ट का पुर्जा कटाने के नाम पर गायब हो गये. इसके बाद सभी शराब कारोबारियों के सिंडिकेट से जुड़े कारोबारी व परिजन उनको बातचीत करने के लिए मोबाइल दे दिया. भीड़ को देखकर सुरक्षा में तैनात अधिकांश चौकीदार पिकअप छोड़कर साइड में खड़े हो गये. अगर शराब कारोबारी भागना चाहते तो उनको पकड़ने के लिए पर्याप्त जवान भी मौजूद नहीं थे.

 

इस बीच नगर थाने की पुलिस कैदियों को लेकर पहुंच गयी तो पिकअप घेरकर खड़े लोगों को डर हुआ कि दूसरे जगह की पुलिस आ गयी है. उसको भी गिरफ्तार कर लेगी. फिर, पिकअप छोड़कर सभी इधर- उधर भागने लगे. तुर्की ओपी पुलिस ने शनिवार को चढुआ, दुबियाही, मधौल से आधा दर्जन से अधिक शराब तस्करों को गिरफ्तार किया था. उनके ठिकाने से शराब भी बरामद हुआ था. कई शराब के नशे में भी थे. जब पुलिस टीम को रविवार को उसके कोर्ट भेजनी थी तो बंद गाड़ी की जगह मालवाहक पिकअप में कोर्ट भेज दिया.

कोई गर्लफ्रेंड से वीडियो कॉल, तो किसी ने की अपने पार्टनर से बात

अस्पताल में शराब कारोबारियों को मोबाइल पर बातचीत करने की पूरी छूट दी गयी थी. कोई अपनी गर्लफ्रेंड से वीडियो कॉल कर रहा था. तो कोई जेल से बाहर आने के बाद हिसाब करने की बात कह रहा था. इस दौरान किसी ने किसी भी पुलिस कर्मी ने उन्हें नहीं रोका.

Share This Article.....

Leave a Reply

Your email address will not be published.