यह कैसी साधना ? दिन में कन्या पूजा तो रात में डिस्को पर बार बालाओं के ‘ठुमके’ , जमकर बरसे नोट

शारदीय नवरात्र पर नवमीं को कन्याओं का पूजन किया गया तो शाम ढलते और रात के जवान होते ही मानपुर सूढ़ी टोला में फूहड़ता से भरे गानों पर रात भर बार बालाएं थिरकतीं रहीं। हद तो तब हो गई, जब मां के भजन पर भी बार-बालाओं ने अश्लीता से भरे लटके-झटके वाले डांस किए, जिस पर युवाओं ने जमकर नोटों की बरसात की।




हालांकि, नोटों की बरसात व वीडियो रिकार्डिंग की सख्ती मनाही थी। इस वजह से नोट उड़ाए जाने का वीडियो कैप्चर नहीं हो सका। सूत्रों का कहना है कि बड़ी मुश्किल से डांस से जुड़े वीडियो को बनाया जा सका। स्टेज पर गिरे नोट इस बात की पुष्टि कर रहे हैं।

फल्गु किनारे बसे मानपुर इलाका में दुर्गा पूजा भव्य तरीके से मनाया जाता है। यहां पूजा और उत्सव को लेकर एक टोले से दूसरे टोले के युवाओं के बीच खासा कॉम्पिटीशन होता रहा है। गुरुवार को भी सूढी टोला के शौण्डिक समाज की ओर से दुर्गा पूजा समिति के बैनर तले दिन में पूजा पाठ, कन्या पूजन, शाम में प्रसाद वितरण और रात में फूहड़ता से भरा डिस्को डांस प्रोग्राम का आयोजन किया गया।


सूत्रों का कहना है कि 70 हजार रुपए के कांट्रैक्ट पर बार बालाओं को बुलाया गया था। बार-बालाओं ने जमकर रात भर फूहड़ता का प्रदर्शन किया और युवाओं ने भी रात भर डांस की प्रस्तुति पर जोश में आकर खूब नोट उड़ाए। शोर भी मचाया।

हद तो इस बात की है कि यह सारा कार्यक्रम कोरोना महामारी को लेकर जारी सख्त गाइडलाइन को ठेंगा दिखाते हुए किया गया। उससे भी खास बात है कि कोरोना महामारी का पहला फेज हो या फिर दूसरा, सबसे पहले यही इलाका संक्रमित हुआ था। पूरे मानपुर इलाके को ही सील कर दिया गया था। यही नहीं, कोरोना की चपेट में मरने वाले लोगों की संख्या में इस इलाके से कम नहीं है। बावजूद इसके मुहल्ले व दुर्गा पूजा समिति के जिम्मेदार लोगों ने कोरोना गाइड की धज्जियां उड़ाई और रात भर बार बालाओं का डांस कराया।


इधर शौण्डिक समाज के नेता व वार्ड पार्षद मनोज सूरी ने कहा- ‘डांस प्रोग्राम नहीं, जागरण हुआ था। वह भी ज्यादा देर तक नहीं, महज दो घंटे तक ही चला था। हम माता के पाठ पर बैठे थे। आज ही पाठ से उठे हैं।’

INPUT: Bhaskar

Share This Article.....

Leave a Reply

Your email address will not be published.