स्वतंत्रता सेनानी सुपरफास्ट एक्सप्रेस में महिला पुलिस कांस्टेबल से छेड़खानी, फर्जी GRP कर्मी ने बैग चेकिंग के नाम पर की छेड़छाड़

नई दिल्ली से जयनगर जाने वाली स्वतंत्रता सेनानी सुपरफास्ट एक्सप्रेस में एक महिला कॉन्स्टेबल के साथ छेड़खानी हुई। छेड़खानी करने वाले उचक्के ने खुद को जीआरपी का जवान बताया। फिर महिला कॉन्स्टेबल का बैग जांच के नाम पर छेड़खानी करने लगा। इस दौरान ट्रेन में अफरातफरी की स्थिति बन गई। हल्ला हंगामा होने पर RPF की स्कॉट टीम मौके पर पहुंची। इसके बाद आरोपी युवक को पकड़ा गया।

आरोपी ने RPF टीम को भी बताया कि वह हाजीपुर जीआरपी का स्टाफ है। आई कार्ड मांगने पर वह भागने की कोशिश करने लगा। इसके बाद उसे खदेड़कर पकड़ा गया। इसके बाद उसे मुजफ्फरपुर जंक्शन लाया गया। वहां से उसे गिरफ्तार युवक को सोनपुर जीआरपी के हवाले कर दिया गया है। गिरफ्तार युवक पुरुषोत्तम कुमार उर्फ मंटू कुमार यादव सारण जिले के सोनपुर थाना क्षेत्र अंतर्गत राहर दियरा नजरमीरा गांव का निवासी है। वहीं महिला कॉन्स्टेबल पूर्वी चंपारण जिले के छतौनी थाना क्षेत्र की निवासी है। वह पटना में एक पुलिस कार्यालय में पदस्थापित हैं। इधर, गिरफ्तार आरोपी से पूछताछ के बाद उसे न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है।

महिला कॉन्स्टेबल ने दर्ज कराई एफआईआर
मामले में महिला कॉन्स्टेबल ने एफआईआर दर्ज कराई है। इसमें उन्होंने बताया है कि वह छुट्टी पर घर जा रही थी। घर जाने के लिए वह सोनपुर जंक्शन से 12562 स्वतंत्रता सेनानी एक्सप्रेस में चढ़ी थी। ट्रेन में चढ़ने से पहले युवक स्टेशन पर था। ट्रेन में चढ़ने के बाद युवक उसका पीछा करने लगा। जब ट्रेन खुली तो वह उनके नजदीक आया। इसके बाद खुद को जीआरपी का जवान बताते हुए उसके बैग की जांच करने लगा।

आईकार्ड मांगने पर वह बदतमीजी के साथ छेड़खानी पर उतर आया। इस बीच ट्रेन में चल रही RPF एस्कॉर्ट टीम भी वहां पहुंच गई। इसके बाद उक्त युवक को पकड़ लिया गया। आरपीएफ ने मुजफ्फरपुर जंक्शन पर ट्रेन पहुंचने पर उक्त युवक को जीआरपी के हवाले कर दिया। इधर, मामले में जीआरपी थानेदार दिनेश कुमार साहु ने बताया कि छेड़खानी का मामला सोनपुर जीआरपी थाना क्षेत्र का था। इसलिए आरोपी युवक को गिरफ्तार कर सोनपुर जीआरपी के हवाले कर दिया गया है।

Share This Article.....

Leave a Reply

Your email address will not be published.