… तो मुजफ्फरपुर में रची गई थी ठीकेदार के हत्या की साजिश, 13 मई को मिली थी धमकी

मोतिहारी । जिले के चकिया में संवेदक जयप्रकाश प्रसाद साहू की हत्या की साजिश भागलपुर जेल में बंद एक शातिर बदमाश ने रची थी। उसे 13 मई को भागलपुर से मोतिहारी न्यायालय में पेशी के लिए लाया गया था।

लौटने के क्रम में वह बदमाश मुजफ्फरपुर में ठहरा था। बताया जाता है कि उसी दिन संवेदक को धमकी दी गई थी। सूत्रों का कहना है कि मुजफ्फरपुर के ही शूटर ने संवेदक को गाली मारी थी। वैसे पुलिस सीसीटीवी फुटेज के आधार पर शूटरों की तलाश कर रही है। जख्मी चालक का अब भी इलाज चल रहा है ।

 

इनसेट

 

ठेकेदारी में वर्चस्व को लेकर की गई हत्या

 

हाल के दिनों में ठीकेदारी को लेकर चल रहे विवाद में वर्चस्व को लेकर जयप्रकाश साहू एक गिरोह के आंख की किरकिरी बन गए थे। बताया जाता है कि वे जेल में बंद एक गिरोह के ठीकेदारी को मैनेज भी करते थे। यह बात दूसरे गिरोह के बदमाशों को नगावार गुजरता था व उसी को लेकर उनकी हत्या किए जाने की आशंका जताई जा रही है। जख्मी चालक राधेश्याम ने बताया कि वे लोग पटना जाने के लिए 3.30 में मोतिहारी के बरियारपुर स्थित आवास से निकले थे। इसी क्रम में चार बजे चकिया के हॉट मिक्स प्लांट पर पहुंचे, जहां आधा घंटा तक रुकने के बाद पटना के लिए निकलनेवाले थे। कुछ देर के लिए चकिया में एक होटल के पास बिरीयानी खाने के लिए रूके थे। खाना खा ही रहे थे कि उसी दौरान बाइक पर सवार दो युवक आए और अंधाधुंध फायरिग करने लगे। जब तक वे लोग कुछ समझ पाते बदमाश संवेदक को भून चुके थे। गाडी स्टार्ट कर मोतिहारी की तरफ चलने के बाद भी बदमाशों ने फिर पीछा कर गोला मारी व भाग निकले।

 

इनसेट

 

चकिया के प्लांट के पास से ही बदमाश कर रहे थे रेकी सूत्रों का कहना है कि चकिया स्थित मिक्स प्लांट के पास से ही बदमाश उनकी रैकी कर रहे थे। होटल के पास पहुंचने पर गोली मार कर हत्या कर दी। संवेदक का चकिया व पश्चिमी चम्पारण में भी संवेदक का मिक्स प्लांट चलता है। इसके अलावा महवल, चकिया में भी रैक प्वाइंट पर स्टोन चिप्स व सिमेंट का रैक उतरता था। उतर बिहार के शिवहर , सीतामढी़, मोतिहारी व बेतिया में भी संवेदक का काम चलता है। संवेदक ग्रामीण विकास अभिकरण व भवन निर्माण विभाग का भी काम करता था। वर्जन आपसी रंजिश व ठीकेदारी के विवाद को लेकर संवेदक की हत्या की गई है। पुलिस इन दोनों बिन्दुओ पर जांच कर रही है। वहीं एसआईटी की टीम लगातार छापेमारी कर रही है। सीसीटीवी फुटेज से बदमाशों को चिह्नित किया जा रहा है व छापेमारी जारी है। जिले के अलावा आसपास के जिलों में भी छापेमारी चल रही है। डा. कुमार आशीष

Share This Article.....

Leave a Reply

Your email address will not be published.